स्टेट बैंक ने बनाई 10 लाख योनो कैश प्‍वॉइंट स्‍थापित करने की योजना, अब ग्राहक बिना एटीएम कार्ड के निकाल सकते है पैसा..


बैंकिंग क्षेत्र में डिजिटल प्लेटफॉर्म को बढ़ावा देने की मंशा से भारतीय स्टेट बैंक अगले 18 महीनों में देश भर में 10 लाख योनो कैश प्‍वॉइंट स्थापित करेगा। योनो कैश प्वाइंट के जरिये उसके ग्राहक बिना डेबिट कार्ड के ही एटीएम से पैसे निकाल सकते हैं और अन्य भुगतान कर सकते हैं.

एसबीआई के चेयरमैन रजनीश कुमार ने बताया कि ‘हम डिजिटल बैंकिंग प्लेटफॉर्म को जनता में लोकप्रिय बनाने का प्रयास कर रहे हैं. यह ज्यादा सुरक्षित है और लोगों को इस प्लेटफॉर्म का यूज करने पर प्लास्टिक डेबिट कार्ड की कोई आवश्यकता नहीं पड़ेगी. बता दें कि योनो एक ऐप है जिसे स्मार्टफोन द्वारा यूज किया जा सकता है. योनो के जरिये मोबाइल से ही लेनदेन और बिलों का भुगतान भी किया जा सकता है.

योनो एक डिजिटल बैंकिंग प्लेटफॉर्म है और ग्राहक नकद निकासी के लिए अपने स्मार्टफोन का प्रयोग कर भी सकते हैं. इसके जरिये लेनदेन और बिलों का भुगतान भी किया जा सकता है. रजनीश कुमार ने बताया कि बैंकों द्वारा आवास ऋण को रेपो रेट से जोड़े जाने की नई पेशकश पर ग्राहकों की अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है. उन्होंने कहा कि यह ग्राहकों की इच्छा पर है कि वे नए उत्पाद के साथ जाएं अथवा अपने गृह ऋण को एमसीएलआर के साथ जोड़ कर रखें.

वाहन क्षेत्र में मंदी के बारे में उन्होंने कहा कि इसके व्यापक विश्लेषण की जरूरत है. इसके साथ ही उन्होंने कृषि क्षेत्र को वाणिज्यिक रूप से व्यावहारिक बनाने की जरूरत बताई. उन्होंने कहा कि कर्ज माफी के बावजूद किसानों की स्थिति नहीं सुधरती है इसलिए इस पर विचार किया जाना चाहिए.

 


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...