अब महिला शक्ति के हवाले हाईकोर्ट, जानिए कौन हैं 4 बड़े हाईकोर्ट की चीफ जस्टिस

नई दिल्ली : देश कहने को भले ही पुरुष प्रधान देश हो, लेकिन इसी देश में महिलाएं अब पुरुष को पीछे छोड़ आगे बढ़ रही हैं। आज के समय में कोई ऐसा क्षेत्र नहीं जहां महिलाएँ पुरुषों से कंधे से कंधा मिलाकर काम ही नहीं कर रहीं, बल्कि उनसे बेहतर प्रदर्शन कर अपने आप को साबित कर रही हैं कि वो किसी से कम नहीं।

ऐसे बहुत ही उदाहरण है लेकिन फिलहाल हम बात कर रहे हैं देश की न्यायपालिका की। अब तक कानून की कुर्सियों में पुरुषों का ही कब्जा रहा है। लेकिन अब इतिहास बदलने जा रहा है। देश की महिलाओं ने न्यायिक सेवा में एक नया इतिहास बनाया है। जी हां, अब देश के चार बड़े और सबसे पुराने उच्च न्यायालयों की मुखिया अब महिला जज हैं। इन चार न्यायालयों की जज जैसे बॉम्बे, दिल्ली, कलकत्ता, मद्रास अब महीला हुआ करेंगी।

मद्रास हाईकोर्ट की चीफ जस्टिस इंदिरा बनर्जी की नियुक्ति 31 मार्च 2017 को हुई थी। इनके साथ-साथ ही यहां की महिला को होसला बढ़ गया, यहा तक की छ: और जज महिलाओं की सख्यां बढ़ गई है। मद्रास में कुल 53 पुरुषों का न्यायधीशों मे शामिल हुएं है। इसके साथ ही मुबंई के सभी हाईकोर्ट में ज़्यादा महिला ही जज है।

बता दें कि पिछले साल 22 अगस्त को मंजुला चेल्लूर यहां की मुख्य न्यायाधीश बन चुकी थी। अब उनके बाद नंबर दो की पोजीशन पर भी एक महिला जस्टिस वी एम ताहिलरामनी बन चुकी है। मुबंई हाईकोर्ट में कुल 11 महिला जज रह चुकी है। यहां पुरुषों की जजों की कुल संख्या 61 है। देश की राजधानी दिल्ली के हाईकोर्ट के शीर्ष पर भी एक महिला सवार हो चुकी है।

यहां पर जस्टिस जी रोहिणी जी अप्रैल में 2014 से ही चीफ जस्टिस रह चुकी है। दिल्ली हाईकोर्ट में कुल 9 महिलाएं और 35 पुरुष न्यायाधीशों में शामिल है। नंबर दो पर जस्टिस गीता मित्तल है। वहीं, कोलकत्ता की महिलाओं के बारे में निशिता निर्मल म्हात्रे पिछले साल से कोलकत्ता हाईकोर्ट की कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश रहें चुकी है।

कोलकत्ता हाईकोर्ट में 4 महिलाओं जजों के मुकाबले में 35 पुरुष न्यायाधीश रहे चुकी है। ऐसा लगता है कि हमारे देश की महिलाओं की अनुपात में सुधार बहुत तेजी से हो रहा है। देश के कुल 24 उच्च न्यायालयों में 632 जज है। इनमें से सिर्फ 68 यानी लगभग 10.7 फीसदी महिलाएं जज बन चुकी है और 28 न्यायधीशों में सिर्फ आर भानुमति की महिला शामिल है।

Share This Post