योगी आदित्यनाथ सरकार बना रही है ‘मुखबिर’, यदि आप बने तो मिलेगा ये लाभ…

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ यूपी की कानून व्यव्स्था को अच्छा करने के लिए कड़े कानून बना रहे है और मनचलों पर लगाम कसने के लिए एंटी रोमियो स्कार्ड का गठन किया। वहीं, अब योगी ने प्रदेश की गिरते लिंगानुपात को रोकने और कन्या भ्रूण हत्या पर लगाम कसने के लिए नई पहल शूरु की है। योगी ने कन्या भ्रूण हत्या को रोकने के लिए मुखबिर योजना की शुरुआत की है। 
दरअसल, यूपी सरकार गिरते लिंगानुपात से काफी चिंतित है जिस वजह से सरकार ने इस योजना की शुरुआत की है। जानकारी के मुताबिक, योगी आदित्यनाथ इस योजना की शुरुआत 24 जून को करेंगे। इस योजना के तहत नर्सिंग होम्स और अल्ट्रासाउंड केंद्रों पर शिकंजा कसा जाएगा, ताकि ये केंद्र होने वाले बच्चे के लिंग की कोई जानकारी न दें सके। ‘मुखबिर’ योजना पीसीपीएनडीटी एक्ट के तहत शुरू की जा रही है। 
इस योजना के तहत पकड़े गये नर्सिंग होम्स और अल्ट्रासाउंड सेंटर के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी और उसे पकड़वाने वाले या गर्भवती महिला को 2 लाख तक का इनाम सरकार की तरफ से दिया जाएगा। इसके साथ ही इस योजना में प्राइवेट संस्था से भी मदद ली जाएगी। यदि ऐसे में नर्सिंग होम्स और अल्ट्रासाउंड केन्द्रों को सूचना देती है तो उसे पकड़वाने वाले या गर्भवती महिला को 2 लाख तक का इनाम सरकार के तरफ से दी जाएगी। यह योजना राजस्तान के तर्ज पर बनी हुई है। नेशनल फैमिली हल्थ सर्वे-4 के मुताबिक, प्रदेश में लिंगानुपात 922 से घटकर अब 903 पर आ गया है। 
Share This Post