उत्तर प्रदेश में अब कहीं भी मनमर्जी से नही चल सकेंगे मदरसे. मदरसे ही नही उसमे पढ़ने वाले लोग भी होंगे सरकार की नजर में... - Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking News, Latest Khabar -

उत्तर प्रदेश में अब कहीं भी मनमर्जी से नही चल सकेंगे मदरसे. मदरसे ही नही उसमे पढ़ने वाले लोग भी होंगे सरकार की नजर में…


भारत इस्तिहस में जिस तरीके से मदरसे धर्मनिरपेक्ष शिक्षा की कीमत पर भारतीय मुसलमानों के बीच मध्ययुगीन रवैया को बढ़ावा देते आये हैं उसे ध्यान में रखते

हुए अगर सरकार कुछ निर्देश जारी करे तो गलत नहीं होगा। योगी सरकार ने हाल ही में स्वतंत्रता दिवस पर राज्य के सभी मदरसों को झंडारोहण और राष्ट्रगान

कोरोना से पीड़ित गरीब लोगो के लिए आर्थिक सहयोग

गाने की विडिओग्राफी कर जमा करने का निर्देश जारी किया था.

जिसका कई मदरसों ने उल्लंघन और झंडारोहण पर पथराव कर फिर एक बार खुद को सवालों के घेरे में खड़ा किया हैं. उसके बाद योगी सरकार ने नया निर्देश

जारी किया हैं जिसमे मदरसे के सभी छात्रों और अध्यापकों को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना होगा. योगी सरकार ने राज्यों के मदरसों के लिए एक अलग वेबसाइट

पोर्टल लांच किया हैं. इस पोर्टल पर सरकार अनुदान पाने वाले और मान्यता प्राप्त मदरसों को अपनी सारी जानकारिया देनी होंगी.

जिसमे मदरसों को अपनी ईमारत, कक्षा की माप, तस्वीरो के साथ अपने सारे शिक्षकों और कर्मचारीओ का पूरा ब्यौरा देना होगा और उसके साथ सभी छात्रों का

ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना होगा. इतिहास गवा हैं मदरसों की इस्लामी शिक्षा व्यवस्था में देश में मुस्लिम अलगाववाद को बढ़ावा देने में एक महत्वपूर्ण भूमिका

निभाई है. मदरसों से कई इस्लामी उग्रवादी पैदा हुए हैं जिन्होंने मज़हब के नाम पर खून खराबा किया हैं.   


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share