इशारों इशारों में सपा-बसपा में हुआ गठबंधन….

नई दिल्ली : बीजेपी की यूपी में हुई भरी वोट की जीत से गुस्साए समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि बीजेपी ने जाति और धर्म के आधार पर लोगो को बांटकर और झूठे वादे करके सत्ता हासिल की है। यह सरकार लोगो को धोखा देकर बनी है। 
अखिलेश ने कहा कि बीजेपी के खिलाफ रास्ता खोले जाने की जरूरत है इसके लिए सभी विपक्षी दल के नेताओ को एक होकर गठबंधन बनाने की जरूरत है और वैसे भी सपा हमेशा सबके साथ है और यदि सभी विपक्षी दलों का गठबंधन बनाया जाता है, तो उसमे भी सपा अहम भूमिका निभाएगी। अखिलेश यादव के इस बयान के बाद बिल्कुल भी देर किये बिना बसपा की नेता मायावती ने शुक्रवार को अम्बेडकर जयंती के दौरान अखिलेश यादव के साथ हाथ मिलाने के संकेत दिए थे।
उन्होंने इवीएम पर सभी विपक्षी दलों का साथ देने की बात कही थी और साथ में ये भी कहा कि मशीन पर भरोसा नहीं कर सकते 100 प्रतिशत बैल्ट पर भरोसा है। साथ ही मायावती ने बीजेपी पर वर्ष 2014 के लोकसभा और वर्ष 2017 के उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनावो में ईवीएम की गड़बड़ी का आरोप डालते हुए कहा देश के लोकतंत्र को बचाने के लिए मैं कदम पीछे खींचने वाली नहीं हूं। 
हमारी पार्टी भाजपा द्वारा ईवीएम की गड़बड़ी के खिलाफ बराबर संघर्ष करेगी और इसके लिए भाजपा विरोधी दलों से भी हाथ मिलाना पड़ा तो अब उनके साथ भी हाथ मिलाने में परहेज नहीं है। मायावती ने कहा कि पार्टी आंदोलन के हित में ‘जहर को जहर से मारने’ के आधार पर चलकर ईवीएम की गड़बड़ी को रोकना बहुत जरूरी है।
Share This Post