उत्तर प्रदेश में चलेगा ‘योगी-राज’, नहीं होगी पीएमओ की दखलंदाजी

नई दिल्ली : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को अपना काम अपने तरीके से करने के लिये पूरी आजादी दी जाएगी। योगी के कामकाज में पीएमओ की दखलंदाजी नहीं होगी। अब केवल योगी राज होगा। बीजेपी नेता ने कहा कि योगी आदित्यनाथ अपने प्रशासन को खुद चलाएंगे और वह खुद ही अधिकारियों की नियुक्ति करेंगे।

मध्य प्रदेश की तरह उत्तर प्रदेश की बीजेपी सरकार भी पार्टी के शीर्ष नेतृत्व के संपर्क में रहेगी। यूपी में इससे इतर कोई हस्तक्षेप करने की जरूरत नहीं है। मामले से जुड़े शीर्ष बीजेपी नेताओं का कहना है कि योगी आदित्यनाथ सूबे के चुनावी घोषणा पत्र से पूरी तरह वाकिफ हैं। वह इसको लागू करने के लिए कदम उठाएंगे। यह चुनावी एजेंडा ही उनके लिए पार्टी का निर्देश है।

वहीं, मंगलवार को नई दिल्ली पहुंचकर योगी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा बीजेपी के शीर्ष नेताओं से मुलाकात की थी। उत्तर प्रदेश की कमान संभालने के बाद पहली बार दिल्ली पहुंचे योगी ने संसद में भी बयान दिया था। शीर्ष अधिकारियों और बीजेपी नेताओं का कहना है कि यूपी सरकार पर केंद्र सरकार के नियंत्रण की बात गलत है। उन्होंने पीएम मोदी के प्रधान सचिव नृपेंद्र मिश्र के लखनऊ पहुंचकर राज्य प्रशासन के अधिकारियों की तैनाती की निगरानी करने की रिपोर्ट को भी सिरे से खारिज कर दिया।

Share This Post