दिल्ली के जल्लाद का वीडियो वायरल होने के बाद उसका संज्ञान लेते हुए दिल्ली महिला आयोग ने दिल्ली पुलिस को भेजा नोटिस. कठोरतम कार्यवाही की मांग

पिछले कुछ समय से सोशल मीडिया में वायरल हो रहा क्रूरता की पराकाष्ठा पार करता एक वीडियो जन जन की जुबान पर आ गया था . इसमें जल्लादों को भी अपनी क्रूरता से मात देखा एक दानवी प्रवित्ति का इंसान एक लड़की को बुरी तरह से कैमरे के आगे पीट रहा था . लड़की बार बार रहम की भीख मांग रही थी लेकिन उसका दिल नहीं पसीज रहा था . इस मामले का वीडियो इतना वायरल हुआ कि इस पर न सिर्फ दिल्ली पुलिस को हरकत में आना पड़ा बल्कि सीधे सीधे गृहमंत्री भारत सरकार श्री राजनाथ सिंह जी तक को दिल्ली पुलिस के कमिश्नर से कठोर व त्वरित कार्यवाही करने के लिए निर्देश देने पड़े ..

अब इसी मामले में दिल्ली महिला आयोग ने भी लिया है संज्ञान और दिल्ली के तिलक नगर थानाक्षेत्र में हुई लड़की की बेरहम पिटाई के मामले में दिल्ली पुलिस को भेजा है नोटिस. ध्यान देने योग्य है कि दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्षा स्वाति मालीवाल ने एक क्रूर इंसान द्वारा एक लड़की को पीटने के वीडियो के मामले में स्वतः संज्ञान लेते हुए दिल्ली पुलिस को नोटिस भेजा है. आरंभिक जानकारी के अनुसार ये नीच और क्रूर हरकत करने वाला अपराधी दिल्ली पुलिस में ही तैनात एक असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर का बेटा है . इस मामले में दिल्ली महिला आयोग के संज्ञान में यह बात प्रथम दृष्टया आई है कि दिल्ली पुलिस ने इस बेहद निकृष्ट आपराधिक मामले में दर्ज हुई एफआईआर में उचित धाराएँ नहीं जोड़ी गयी हैं जिस से सीधे सीधे दोषी को परोक्ष लाभ पहुचाने की कोशिश माना जा सकता है .

इतना ही नहीं संज्ञान में ये भी आया कि अपनी ऊंची पहुँच की धौंस देते हुए पीड़ित लड़की और उसके परिवार को धमकी दी जा रही है और उन पर केस वापस लेने के लिए दवाब बनाया जा रहा है| इस मामले में दिल्ली महिला आयोग ने तिलक नगर थाने के एसएचओ को नोटिस भेजकर सूचना मांगी है| .आयोग ने इस मामले में पुलिस से तथ्यात्मक रिपोर्ट और एफआईआर की कॉपी मांगी है| इसके अलावा पुलिस से पूछा है की लड़की और उसके परिवार को सुरक्षा देने के लिए क्या कदम उठाये जा रहे हैं, साथ ही एफआईआर में उचित धाराएँ न जोड़ने और अभियुक्त को गिरफ्तार न करने का कारण पूछा है| दिल्ली पुलिस को 17.09.2018 तक सूचना देने को कहा गया है|

Share This Post