धन्यवाद के पात्र हैं वो 100 लोग जिन्होंने बेटे की मौत का शोक मनाते परिवार का कुछ यूं दिया साथ… हर कोई बोला- “महान हो आप”

अक्सर कहा जाता है कि आधुनिकता की भागदौड़ भरी जिन्दगी में मानवीय संवेदना कहीं न कहीं ख़त्म हो रही है तथा इंसान स्वार्थी होता जा रहा है. लेकिन राजस्थान के जोधपुर की ये घटना साबित करती है कि मानवीयता, संवेदना कमजोर जरूर हो सकती है, लेकिन कभे ख़त्म नहीं हो सकती. उन 100 लोगों का हर कोई धन्यवाद कर रहा है, जिन्होंने बेटे की मौत का शौक मनाते परिवार का कुछ इस तरह साथ दिया कि हर कोई उनकी तारीफ किये बिना न रह सका.

सोचा भी नहीं होगा आप ने कि ऐसे भी होता है अत्याचार. उसे जानकर रो देंगे आप जो हुआ था साध्वी प्रज्ञा के साथ.. खुद बताया साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने

खबर के मुताबिक़, जोधपुर के नजदीक दयाकौर गांव में एक परिवार पर आई मुश्किल को कम करने के लिए पूरा गांव मदद के लिए आगे आ गया. दयाकौर गांव निवासी भूरालाल पालीवाल के 18 साल के बेटे गणपतराम की मौत चार दिन पहले छत्तीसगढ़ में हो गई थी. वह अपने रिश्तेदार से मिलने गया था. रायपुर में अचानक तबीयत बिगड़ गई. वहीं, उसकी मौत हो गई. खेती बाड़ी और घर की जिम्मेदारी उठाने वाला एकाएक दुनिया से चला गया. जब परिजनों को उसकी मौत की खबर मिली तो पूरा परिवार बेसुध हो गया.

18 अप्रैल: बलिदान दिवस पर नमन है क्रांतिवीर दामोदर हरी चापेकर जी को, जिन्होंने अत्याचारी अंग्रेज अफसर रेंड का वध कर आज ही चूमा था फांसी का फंदा

इसके बाद जो हुआ वो एक नजीर बन गया. भूरालाल के खेत में गेहूं और जीरे की फसल पक चुकी थी. राजस्थान में इन दिनों मौसम बदल रहा है. डर था कहीं यह नुकसान भी ना हो जाए. गांव वालों ने परिवार की मदद करने का फैसला लिया. भूरालाल के परिवार की मदद के लिए 100 लोग सामने आए और शनिवार को खेत में फसल काटने में जुट गए. दोपहर तक यानी 7 घंटे में 10 बीघा में खड़ी जीरा और गेहूं की फसल को काट दिया और सुरक्षित स्थान पर पहुंचा दिया. इस मदद के लिए पालीवाल परिवार ने गांव वालों का शुक्रिया अदा किया.उन्होंने कहा कि आज के वक्त कौन किसकी मदद करता है लेकिन गांववालों ने जिस तरह उनकी मदद की, मैं इसे कभी नहीं भूल सकता.

18 अप्रैल: बलिदान दिवस अमर हुतात्मा तात्या टोपे जी जिनके आगे घुटने टेके थे अंग्रेजो ने लेकिन पाप किया इतिहासकारों ने उनका नाम छिपा कर

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW