पूरे प्रदेश में उखाड़ी जा रही धर्म परिवर्तन की जड़ें… जौनपुर के बाद अब आज़मगढ़ में २ हिरासत में

धर्मान्तरण की मशीनों के खिलाफ उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ जी की सरकार आक्रामक मोड़ में नजर आ रही है. जौनपुर में ईसाई धर्मान्तरणकारियों के पैर उखाड़ने के बाद अब उत्तर प्रदेश के ही आज़मगढ़ में योगी की पुलिस धर्मांतरणकारियों पर कहर बनकर गिरी है तथा उनके मंसूबों को नाकामयाब करते हुए दो लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया. ज्ञात हो कि उत्तर प्रदेश के गोरखपुर से भी धर्मान्तरण कराने वाले 5 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है.

आपको बता दें कि ईसाई प्रार्थना सभा में तमाम तरह के चमत्कार दिखाकर लोगों को ईसाई धर्म के प्रति आकर्षित कर धर्म परिवर्तन कराने का खेल जोरों पर चल रहा है. इसीक्रम में रविवार को आजमगढ़ के रौनापार थाना क्षेत्र के बातन गांव में प्रार्थना सभा का आयोजन कर धर्म परिवर्तन कराने की योजना थी. उससे पहले ही सूचना मिलने पर पुलिस पहुंच गई और दो प्रमुख लोगों को हिरासत में लेकर थाने चली आई तथा हिरासत में लेकर पूंछताछ शुरू कर दी. उधर मामला संज्ञान में आने पर एसपी ग्रामीण ने सीओ सगड़ी को मामले की जांच सौंपी है. एसओ रौनापार गिरिजेश सिंह रघुवंशी के मुताबिक बातन गांव निवासी रामचंद्र साहनी के दरवाजे पर रविवार को प्रार्थना सभा का आयोजन किया गया था. जिसमें बातन के अलावा खैरघाट, चिलबिली, बनावे, बाजार गोसाई, खोजौली, बेलकुंड आदि गांव के 50 से अधिक महिलाएं और पुरुष इकट्ठा थे. यहां पर ईसाई धर्म स्वीकार कराने से पहले प्रार्थना की जानी थी. सभी लोग प्रार्थना की तैयारी कर रहे थे.

एसओ के मुताबिक धर्म परिवर्तन कराने वाले काफी दिनों से इन लोगों के यहां आते और तमाम प्रकार के चमत्कार दिखा रहे थे. यह लोग मदद के नाम पर इन्हें रुपये आदि भी दिए हैं, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इनके बहकावे में आकर उनके धर्म में शामिल हो जाए. रविवार को चल रहे घटनाक्रम की सूचना मिलने पर डायल 100 की पुलिस तत्काल मौके पर पहुंच गई. पुलिस को देख अन्य लोग इधर-उधर खिसक गए. मौके से दो प्रमुख लोगों को हिरासत में लेकर पुलिस थाने चली आई. एसपी ग्रामीण नरेंद्र सिंह ने बताया कि पूरे मामले की जांच सीओ सगड़ी को सौंपी गई है. जांच रिपोर्ट आने पर दोषियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

Share This Post