भाजपा सांसद पर लगा उस बलात्कारी मजहबी उस्ताद को समर्थन का आरोप..जिसका नाम है अजमल शाह

उत्तर प्रदेश से एक ऐसी खबर सामने आ रही है जो भारतीय जनता पार्टी के लिए बड़ी मुसीबत बन सकती है. एक महिला ने भाजपा के एक कद्द्दावर लोकसभा सांसद पर उसके साथ रेप करने वाले बलात्कारी अज़मल सशाह का बचाव करने का आरोप लगाया है. महिला के सांसद पर इस आरोप के बाद भाजपा में खलबली मच गयी है. मीडिया सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक़, मामला उत्तर प्रदेश के कौशांबी का है जहाँ एक तांत्रिक अजमल शाह की दरिंदगी की शिकार रेप पीड़िता को जब पुलिस से इंसाफ नही मिला तो पीड़िता ने शनिवार को सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को खून से खत लिखकर न्याय की गुहार लगाई है. पीड़िता ने खत में यह भी लिखा है कि जिले के सांसद व भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चे के राष्ट्रीय अध्यक्ष विनोद सोनकर अपने राजनीतिक फायदे के लिए दुराचार के आरोपी बाबा अजमल शाह का बचाव कर रहे है , जिसके चलते उसे इंसाफ नही मिल रहा है.

मीडिया सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक़, मामला मीडिया में आने के बाद बीजेपी के चायल विधायक संजय गुप्ता पीड़िता की मदद को आगे आये, जिसके बाद पुलिस ने केस दर्ज अब कार्यवाई शुरू कर दी है. कौशांबी जिले के करारी थाना इलाके की रहने वाली पीड़ित महिला अपने पति के साथ 23 अगस्त को शिकायत दर्ज कराने करारी थाने गई थी. पीड़िता ने पुलिस को बताया कि तांत्रिक अजमल शाह पिछले पांच सालों से उसकी अस्मत को लूट रहा है. इससे पहले भी विरोध करने पर आरोपी बाबा ने रायफल की बट से उसके पति का एक पैर तोड़ दिया और एक आंख फोड़ दी थी. तांत्रिक अजमल शाह के डर व दहसत के चलते पीड़िता पिछले पांच सालों तक उसकी हर जुल्म को सहती रही हूँ. पीड़िता का आरोप है कि थाने में उसकी शिकायत दर्ज करने के बजाए पुलिस ने उल्टा उसके पति को ही हवालात में डाल दिया था और फिर पुलिस ने आरोपी अजमल शाह को थाने बुलाकर पीड़िता पर समझौता का दबाव बनाकर उसके पति को रिहा कर दिया, जिसके बाद पीड़ित महिला परिवार सहित गांव से पलायन कर गई.

मामला उस वक्त मीडिया में आया जब पीड़िता 8 सितंबर को इलाहाबाद जोन के एडीजी व कौशांबी एसपी से मिलकर अपनी शिकायत दर्ज कराई. बता दें कि एडीजी के निर्देश के बाद भी कौशांबी पुलिस ने पीड़िता का केस नही दर्ज किया. एसपी ने पूरे मामले की जांच सीओ को सौप दी. शनिवार को पीड़िता ने मुख्यमंत्री को भेजे खूनी पत्र में सीधे आरोप लगाया है कि जिले के भाजपा सांसद व अनुसूचित जाति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष विनोद सोनकर दुराचार के आरोपी बाबा का बचाव करते हुए पुलिस की कार्यवाई पर ही रोक लगा दी है. महिला का ये भी कहना है कि दुराचार के आरोपी तांत्रिक अजमल शाह ने पुलिस कार्यवाई से बचने के सांसद के सहयोग से लिए इस दौरान भाजपा का दामन थाम लिया था. मीडिया सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक़, अजमल शाह ने हर प्रमुख स्थानों पर पार्टी के सांसद व विधायको के साथ अपनी होडिंग भी लगवा दी.

मामला मीडिया में आने के बाद बीजेपी के विधायक संजय कुमार गुप्ता मीडिया से रूबरू होते हुए कहा कि दुष्कर्मी व अपराधियों के लिए सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी में कोई जगह नही है. उन्होंने पूरे मामले में एसपी को फोन कर दुराचार के आरोपी बाबा के खिलाफ केस दर्ज कर आवश्यक कार्यवाई के निर्देश दिए और पीड़िता की FIR भी लिखी जा रही है. इस दौरान मीडिया से रूबरू हुए भाजपा सांसद विनोद सोनकर ने अपने सफाई में कहा कि लोक सभा चुनाव नजदीक आ रहा है इसी लिए विरोधी पार्टी के लोग उन्हें घेरने के लिए ऐसी साजिस रच रहे है. उन्होंने सिर्फ निष्पक्ष जांच के लिए एसपी को फोन किया था. हालांकि घटना के बाबत एएसपी अशोक कुमार का कहना है कि दुराचार के आरोपी बाबा अजमल शाह के विरुद्ध आईपीसी की धारा 452, 376 के तहत केस दर्ज कर आवश्यक कार्यवाई कराई जा रही है.

Share This Post