शामली में मजहबी चरमपंथ का ऐसा खौफनाक चेहरा जिसमें मौत के मुहाने पर वो मासूम जिन्हें पता ही नहीं है कि क्या होता है धर्म

ये वो लोग हैं जो कहते हैं कि लव जिहाद कुछ नहीं होता बल्कि ये युवक-युवती के बीच आपसी प्यार-मोहब्बत होती है.. ये वो लोग हैं सार्वजानिक मंचों से हिन्दू-मुस्लिम एकता की पैरोकारी करते हैं, सांप्रदायिक सद्भाव की बात करते हैं लेकिन जब कोई मुस्लिम युवती हिन्दू युवक से प्यार करती है, शादी करती है तो ये लोग उसकी जान लेने पर उतारू हो जाते हैं. सवाल खड़ा होता है कि आखिर ये कौन सी   धर्मनिरपेक्षता है जिसके सिद्धांत ये मजहबी कट्टरपंथी अपनी सहूलियत के हिसाब से जब चाहे तब बदल लेते हैं?

लाल सलाम का खूनी रूप.. विरोध करने वालों को घर में घुसकर पीटा कन्हैया के साथियों ने.. दिख रहा वामपंथ का असल रंग

मजहबी चरमपंथ का ऐसा ही डरावना मामला उत्तर प्रदेश के शामली से सामने आया है जहाँ उन मासूम बच्चों पर मौत का कह्त्रा मंडरा रहा है, जिन्हें ठीक से ये तक नहीं पता कि धर्म क्या होता है, मजहब क्या होता है. शामली में थाना आदर्श मंडी क्षेत्र के मोहल्ला रेलपार निवासी सोनू ने पुलिस अधीक्षक अजय कुमार पांडे से मुलाकात कर बताया कि वह 2009 पानीपत स्थित कारपेट की मशीन पर मैकेनिक के रूप में कार्य करता था. वहीं पर पानीपत निवासी गुलिस्ता(महिला का नाम) भी काम करती थी. दोनों को प्यार हो गया लेकिन परिजन शादी से इनकार कर रहे थे.

एक चेतावनी भारत ने पहले ही दी थी सेक्यूलर श्रीलंका को.. लेकिन अब वो आधिकारिक रूप से बोला कि- “काश हम मान लिए होते”

जब परिजन नहीं माने तो दोनों ने घर से भागकर नवंबर 2013 में हिंदू रीति-रिवाज से मंदिर में शादी कर ली. सोनू ने बताया कि गुलिस्ता ने अपनी इच्छा से नाम बदलकर पिंकी रख लिया था. शादी के बाद वह दोनों आगरा में जाकर रहने लगे. 6 साल के दौरान उनके तीन बेटियां हुईं. इसी बीच गुलिस्ता उर्फ पिंकी के परिजनों का आना जाना भी शुरू हो गया. आरोप है कि होली से 2 दिन पहले परिजन पिंकी और उसके तीनों बच्चियों को बहला-फुसलाकर अपने साथ ले गए. वह उस समय घर से बाहर था.

खुलने लगी श्रीलका आतंकी हमले की परतें.. सामने आ रहा पाकिस्तानी कनेक्शन

सोनू ने बताया कि जैसे ही पता लगा तो वह पानीपत ससुराल पहुंचा. युवक ने आरोप लगाया कि वहां पिंकी के भाई व उनके पिता ने उसके साथ मारपीट की और बोला कि बच्चे चाहिए तो धर्म परिवर्तन कर मुस्लिम धर्म कबूल करना पड़ेगा. युवक ने आरोप लगाया कि ऐसा ना करने पर उसकी बच्ची को जान से मारने की धमकी दी है. इससे उसकी पत्नी और बच्चों को जान का खतरा बना है. एसपी ने पीड़ित की बातों को सुनकर कार्रवाई के आदेश दिए हैं.

जिस पाकिस्तान के साथ बहिष्कार के समय सेक्यूलर श्रीलंका ने खेला था मैच.. अब उसी पाकिस्तान ने दिया श्रीलंका को ये रिटर्न

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

Share This Post