स्वागत हो रहा आशा का जो पहले थी आसमा.. साथ में दीजिये शुभकामनाएं उन्हें धर्म की राह दिखाने वाले उनके पति संजय को

परिवार भी खिलाफ था और समाज भी खिलाफ था लेकिन आसमा ने संकल्प ले लिया था कि वह सिर्फ और सिर्फ विशाल की अर्धांगिनी बनकर ही रहेगी. आसमा के परिजन किसी भी हालात में उसकी शादी विशाल से करने को तैयार नहीं थे लेकिन आसमा विशाल के अलावा किसी की होना नहीं चाहती थी. जब आसमा को लगा कि उसके परिजन उसकी बात नहीं मानेंगे तो उसने इस्लाम त्यागकर सनातन को अपना लिया व आसमा से आशा हो गई. फिर आशा ने मंदिर में विशाल के साथ शादी कर दी. आसमा के परिजन अभी भी इस शादी के खिलाफ हैं लेकिन आसमा अब आशा बन चुकी है तथा विशाल के साथ रहने को ही संकल्पित है.

अब राजनीति में “गदर” मचाएंगे दिग्गज अभिनेता सनी देओल.. बीजेपी में शामिल होकर बोले- “आएगा तो मोदी ही”

मामला उत्तर प्रदेश के बागपत के निवाड़ा गांव का है. यूपी के ही मेरठ जनपद के परीक्षितगढ़ निवासी विशाल पुत्र झंडू सिंह ने बताया कि निवाड़ा गांव में उसकी रिश्तेदारी है. तीन साल पहले रिश्तेदारी में आया हुआ था. तभी पड़ोस में रहने वाली आशमा से प्रेम हो गया. दोनों ने शादी करने का निर्णय लिया. आसमा के परिजनों को पता लगा तो वह भड़क उठे तथा रिश्ते को मानने से इंकार कर दिया. फिर डेढ़ माह पहले मुजफ्फरनगर पहुंच कर दोनों ने आर्य समाज मंदिर में हिंदू रिवाज ने शादी रचा ली. आशमा ने धर्म बदल कर शादी की. उसने अपना नाम आशा रख लिया.

मस्जिद में केवल इसलिए नहीं घुसने दिया क्योंकि उसने वोट दिया था BJP को… राजनीति का मजहब से रिश्ता ?

शादी के बाद दोनों मुजफ्फरनगर के मंसूरपुर में कमरा किराए पर लेकर रहने लगे तथा मुजफ्फरनगर कोर्ट में शादी पंजीकृत कराई. युवती के परिजनों की शिकायत पर सोमवार को पुलिस ने दोनों को बरामद कर लिया. पुलिस ने युवती का मेडिकल परीक्षण कराया. युवती ने बताया कि उसने अपनी मर्जी से धर्म बदलकर शादी की है. उस पर किसी ने कोई दबाव नहीं बनाया. अब वह अपने पति के साथ ही रहेगी. कोतवाली प्रभारी शिव प्रकाश सिंह ने बताया कि युवती के न्यायालय में बयान दर्ज कराए जाएंगे.

अब राजनीति में “गदर” मचाएंगे दिग्गज अभिनेता सनी देओल.. बीजेपी में शामिल होकर बोले- “आएगा तो मोदी ही”

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

Share This Post