UP पुलिस के पराक्रम से कांपा अपराध जगत.. 1 लाख के इनामी ने घुटने टेके

उत्तरप्रदेश मे पुलिस ने जहां एक तरफ अपराध की जड़ पर वार कर के उसको उखाड़ फेंकने की कसम खा ली है वहीं अपराधी को छिपने और  बचाने के लिए इधर-उधर भागना पड़ रहा है। बीते 10 महीनों में यू पी पुलिस ने राज्य में सैंकड़ों अपराधियो को धूल चटा कर कर बदमाशों की नींद हराम कर दी है । इतना तो तय है कि अपराधी पुलिस का असली अर्थ जान गए हैं .. पुलिस का बदमाशों में इतना खौफ है कि उन्हें भेष बदलकर भागना पड़ रहा है ।

पुलिस के ही कड़े तेवरों का ही यह नतीजा

है की गुंडों-बदमाशों का सफाया कर रामराज्य की स्थापना की जा रही है।

आपको बता दे कि अब यूपी पुलिस के खौफ से, यूपी के बिजनौर जिले में एक लाख के नामी अपराधी ने अदालत में छिप कर सरेंडर कर दिया। इस नामी बदमाश का नाम आदित्य कुमार है। आपको ये भी ज्ञात हो कि आदित्य कुमार पर यूपी पुलिस ने एक लाख रूपये का इनाम रखा था।

पुलिस को आदित्य कुमार की लंबे समय से तलाश थी। आदित्य कुमार को शक था कि पुलिस जल्द ही उसके कुकर्मो का फल देगी ..इसलिए उसने वेश बदलकर बिजनौर कोर्ट में पहुंचा और सरेंडर कर दिया।

बदमाश आदित्य ने कोर्ट में सरेंडर के लिए पहले से बकायदा तैयारी कर ली थी। पुलिस उसकी तलाश में थी इसलिए उसने सबसे पहला हुलिया बदला। उसने दिव्यांग

बनने का नाटक किया और कोर्ट में बैसाखी के सहारे लगड़ाते हुए पहुंचा।

बदमाश आदित्य ने उसके ऊपर चल रहे एक पुराने हत्या के मामले में कोर्ट में सरेंडर

कर दिया। बता दें कि उत्तर प्रदेश में इन दिनों यूपी पुलिस माफिया राज के खात्मे के लिए ऑपरेशन क्लीन चला रही है। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी

इस मामले में पुलिस को स्पष्ट आदेश दे रखें हैं। बदमाश आदित्य कुमार को शक था कि पुलिस उसकेे पापो केे हिसाब कर सकती है इसलिए उसने कोर्ट में सरेंडर कर जेल जाना उचित समझा।

जानकारी के अनुसार 28 साल के बदमाश आदित्य पर यूपी के कई थानों में 16 लूट, हत्या, हत्या का प्रयास और फिरौती के कई केश दर्ज हैं। आदित्य की तलाश

में सिर्फ यूपी पुलिस ही नहीं बल्कि एसटीएफ भी जुटी हुईं थी। बीते साल अगस्त में पुलिस ने उसे गिरफ्तार भी किया था लेकिन वो पुलिस हिरासत से

भाग निकला था और तभी से फरार था।

Share This Post