मासूमो का नर्क साबित हो रहा कान्वेंट स्कूल… अब पटना के कान्वेंट स्कूल HOLLY CROSS में हुआ घिनौना कुकृत्य

इंटरनेशनल स्कूल परंपरा ने देश में मॉरल शिक्षा का पतन किया है और इस व्यवस्था ने देश में शिक्षा के प्रतिस्पर्धा को बढ़ाकर छात्रा व छात्रों के अस्तित्व को

धूमिल किया है। आज कल देश के विद्या मंदिरो में छोटे बालिकाओ के साथ दुर्व्यव्यवहार हो रहे है और इस तरह के घटनाओ से अभिभावकों को यह डर सताने

लगा है कि उनके अपने बच्चे स्कूल में सुरक्षित है या नहीं। अगर इस आधुनिकयुग में बच्चे शुरवाती दौड़ उनके साथ दुर्व्यव्यवहार से गुजरेगा तो उनका समाज में

विकास कैसे होगा।

अभी देश भर से स्कूलों से यह खबर आ रही हैं कि स्कूलों में बच्चे और बचियो के साथ हत्या व अश्लील जैसी घटनाए हो रही है।

बता दें कि देश की राजधानी दिल्ली की ताजा घटना प्रद्धुमन हत्या की घटना की आग अभी ठंडी भी नहीं हुई थी तो एक ओर बिहार के पटना राजधानी के होली

क्रॉस इंटरनेशनल स्कूल में एक 8 साल की छात्रा के साथ छेड़छाड़ की घटना सामने आई है। छात्रा दूसरी कक्षा में पढ़ती है और खबर यह है कि छात्रा के साथ

उसी के स्कूल में काम करने वाले एक स्वीपर ने शौचालय के अंदर गलत काम करने की कोशिश की. यह घटना उस वक्त प्रकाश में आया, जब पीड़ित छात्रा ने

शौचालय से निकलने के बाद स्कूल में अपने टीचर से इस बात की शिकायत की।

गौरतलब है कि दूसरी कक्षा के छात्रा के साथ गलत काम करने की कोशिश की घटना की जानकारी जैसे ही स्कूल मैनेजमेंट को मिली। उन्होंने ने तुरंत ही छात्रा के

परिवार वालो को सूचित किया और मोके पर ही छात्रा के परिवार वाले स्कूल पहुंचे। स्कूल मैनेजमेंट ने इस घटना की दानापुर थाने को भी इस बात की जानकारी

दी। छात्रा के परिवार वाले अपनी बेटी के साथ कथित तौर पर हुए छेड़छाड़ से आक्रोशित छात्रा के माता-पिता और स्थानीय लोगों ने उस कुछ देर के अंदर ही स्कूल

पर धावा बोल दिया. आक्रोशित अभिभावक और स्थानीय लोगों ने स्कूल के खिलाफ नारेबाजी की और स्कूल के प्रिंसिपल और संचालक की गिरफ्तारी की मांग की।

बता दें कि पुलिस स्कूल पहुंच कर आरोपी रामजी नाम के स्वीपर को गिरफ्तार कर लिया जिस पर छात्रा के साथ छेड़छाड़ करने का आरोप लगा था. स्वीपर को

गिरफ्तार करने के बाद पुलिस उसे थाने ले कर गई है जहां पर उसकी पूछताछ चल रही है. हालांकि, स्वीपर ने इस बात से इनकार किया कि उसने छात्रा के साथ

कोई भी गलत काम करने की कोशिश की। मगर, आरोपी की गिरफ्तारी के बावजूद आक्रोशित लोगों का गुस्सा शांत नहीं हुआ और उन्होंने स्कूल पर जमकर पथराव

किया और खिड़कियों के शीशे तोड़ दिए.

पीड़ित छात्रा के माता-पिता ने कहा कि वह स्कूल के डायरेक्टर और प्रिंसिपल के खिलाफ कड़ी कार्रवाई चाहते हैं। इस घटना

के विषय में स्कूल की संचालिका संजीव ठाकुर ने भी माना कि स्कूल के तरफ से भी कुछ लापरवाही बरती गई है जिसकी वजह से घटना हुई. संजू ठाकुर ने कहा

कि स्कूल में छात्राओं के लिए जो शौचालय है उसमें काम करने के लिए 5 नौकरानियों को रखा गया है मगर आरोपी स्वीपर शौचालय में कैसे घुस गया इसकी

भनक किसी को भी नहीं हुई। 

Share This Post