अगर आतंकवाद का कारण अशिक्षा है तो. आजमगढ़ की एक मेडिकल छात्रा को ISIS का आतंकी ही मिला निकाह के लिए?


नई दिल्ली : आपने बहुत से लोगों को प्यार में पड़ते हुए देखा होगा, लेकिन ऐसा प्यार ना तो आपने देखा होगा और ना ही सुना होगा। यह मामला है उत्तरप्रदेश के आजमगढ़ की एक मेडिकल स्टूडेंट का, जो आईएसआईएस के आतंकी के प्यार में पागल हो गई और दुनिया से बेपरवाह उसने आतंकी से फोन पर ही निकाह कर लिया।

बता दें कि युवाओं को आईएस में शामिल करने के उकसाने के आरोपी अयान खान सलाफी ने आजमगढ़ की 24 वर्षीय युवती को अपने साथ सीरिया आने और इस्लामिक जीवन जीने के लिए बुलाया था। युवती एक मेडिकल स्टूडेंट थी, वह अयान से प्रेरित हुई और दोनों ने पिछले साल मई के महीने में फोन पर ही शादी कर ली। 37 वर्षीय अयान राजस्थान के चुरु का रहने वाला है। भारत में वह आईएस प्रमुख शफी अरमार का करीबी है और जुनूद-अल-खलीफा-ए-हिंद जॉइन करने के लिए युवाओं को प्रेरित करने में प्रमुख योगदान करता है।

अरमार ने साल 2015-16 में जेकेएच की शुरुआत की थी। वहीं, सूत्रों के अनुसार, 2012 के अंत में अमजद आजमगढ़ के सरायमीर की मेडिकल छात्रा के संपर्क में आया। इस बीच अमजद सऊदी चला गया और वहीं से भारतीयों को आईएस में भर्ती के लिए बरगलाने लगा। लड़की को प्रेम जाल में फंसाने के बाद अमजद ने उसे बताया कि वह विवाहित है और उसके दो बच्चे हैं। इसके बावजूद युवती उसके संग निकाह करने को तैयार थी। बाद में युवती ने सऊदी में रहकर भारत के युवाओं को आईएस में भर्ती के लिए बरगलाने वाले अमजद से मई 2016 में मोबाइल फोन पर निकाह कर लिया। मामले के खुलासे के बाद से सुरक्षा एजेंसियों कान खड़े हो गए है। फिलहाल, एजेंसिया जांच में जुटी हैं। 


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...