Breaking News:

लव जिहाद शब्द को उठाने वाले ही थे योगी आदित्यनाथ. पर उनकी पुलिस का उनके ही राज में ये है रवैया

जहां एक ओर पूरे देश में लव जिहाद एक संक्रमण की तरह फैल चुका है। वहीं, यूपी में योगी आदित्यनाथ के सख्त तेवर और कड़े कानून के बावजूद भी एक पुलिस अधिकारी ने लव जिहाद के मामले को सुलझाने के लिए रिश्वत मांगी है। यह मानना बहुत मुश्किल है पर सच है। योगी सरकार के कड़े कानून के बावजूद इस पुलिस अधिकारी ये हरकत की है। 
यह मामला कानपुर के चकेरी इलाके का है, जहां सिर्फ 10 साल की बच्ची को 22 साल के आरोपी असलम ने जबरन शादी के लिए अगवा कर लिया। इसके बाद लड़की के परिवार वालों को धर्म परिवर्तन की धमकी देने लगा। आरोपी के धमकी देने के बाद बच्ची के माता-पिता अपनी गुहार लेकर पुलिस के पास पहुंचे। जिसके बाद कार्रवाई के नाम पर पुलिस ने बच्ची के पिता से हजारों रुपये खर्च कराए लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की। 
जब बच्ची के माता-पिता ने पुलिस के पास इसकी मामले की एफआईआर दर्ज कराई थी तो आरोपी असलम का बाप उसके परिवार को धमकी देने लगा कि अपनी बच्ची का धर्म परिवर्तन करा लो और बेटी की शादी असलम से करा दो। इसके बाद जब बच्ची के परिवार वाले दोबारा पुलिस के पास गए तो उन्होंने बच्ची के परिवार वालों को परेशान करना शुरू कर दिया। 
परिजनों के काफी मिन्नतों के बाद पुलिस को कार्रवाई में आरोपी असलम की लोकेशन का पता चला तो उन्होंने दोबारा बच्ची के परिजनों को परेशान करना शुरू किया। आरोपी को पकड़ने के लिए थानेदार ने बच्ची के परिजनों से AC कार की डिमांड की। जिसके बाद किसी तरह से अपनी जमा पूंजी को इकठ्ठा कर एक टैक्सी लेकर थानेदार को दी। तब से अब तक थानेदार कई बार AC का खर्च उनसे मांग चुका है लेकिन अभी तक उन्हें उनकी बेटी के बारे में कोई जानकारी नहीं दी।  
Share This Post