भारतीय छात्रों को नॉएडा में पीटा अफगानिस्तानियो ने. जबकि अफवाह उड़ाई गयी थी कि भारत में बढ़ गयी है असहिष्णुता

ये घटना उन तमाम आरोपों का ऐसा जीवंत जवाब है जिसको शायद वो राजनेता हजम ही नहीं कर पायेंगे जिन्होंने अभी कुछ समय पहले ही अफवाह उड़ाई थी कि भारत में तेजी से बढ़ रही है असहिष्णुता और इसके साथ ही कई भारतीयों को मोब लिंचिंग करने वाला भी बता कर किया गया था हंगामा .. लेकिन अब जो हुआ उसका जवाब शायद ही किसी के पास जो जिसमे अफगानिस्तान से भारत आये कुछ झगडालू प्रवित्ति के लोगों ने भारतीय छात्रों को पीटा है .

बताया ये भी जा रहा है कि वो सभी पिटे भारतीय छात्रों के साथी सहयोगी है . कुछ लोगों का ऐसा भी कहना है इस घटना पर कि यकीनन अगर यही उल्टा हुआ होता तो अब तक राजनीति अन्तराष्ट्रीय स्तर पर बयानबाजी में चल रही होती .  ये घटना है उत्तर प्रदेश के सीमान्त और भारत की राजधानी दिल्ली से सटे हुए ग्रेटर नोएडा की शारदा यूनिवर्सिटी की जहाँ पर सोमवार की दोपहर मामूली बात को लेकर अफगानी छात्रों ने भारतीय छात्रों पर हमला बोल दिया .. ये विवाद दोनों पक्षों के बीच हुई कहासुनी के साथ शुरू हुआ और धीरे धीरे उन्मादियो द्वारा पथराव तक पहुच गया .

पहले तो इन्हें वहां के स्थानीय कॉलेज प्रबंधन ने शांत कर दिया, लेकिन देर रात एक बार फिर से एक पक्ष उन्मादी हो गया और वही वजह बनी थी पथराव की . इस मामले में स्थानीय क्षेत्राधिकारी और थानाध्यक्ष के कार्यो की प्रसंशा करनी होगी जिन्होंने मौके पर सटीक समय पर पहुच कर हालात को फ़ौरन ही काबू किया .  देर रात हुई घटना के बाद यूनिवर्सिटी प्रशासन ने उन छात्रों के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कही है जिनके बीच विवाद हुआ। इस मारपीट का वीडियो भी वायरल हुआ जो हिन्दू संगठनों में तेजी से आक्रोश का कारण बन रहा है . आरंभिक जानकारी के अनुसार शुरुआती गलती कालेज प्रशासन की है जिसने अन्दर ही अन्दर सुलग रहे विवाद को हल्के में लिया और कोई ठोस कार्यवाही नहीं की उन्मादी छात्रों पर . इसी का नतीजा ये रहा कि सोमवार देर रात दोनों पक्षों में फिर से मारपीट और पथराव शुरू हो गया। तारीफ करनी होगी उस पुलिस बल की जिसकी त्वरित कार्यवाही के चलते विवाद बड़ा रूप नहीं ले पाया … पुलिस इस मामले में आवश्यक विधिक कार्यवाही कर रही है .

Share This Post