असम के बाद त्रिपुरा भी बोल उठा- “हमें चाहिए बांग्लादेशी घुसपैठियों से आजादी”

असम में NRC ड्राफ्ट जारी होने के बाद भले ही विपक्षी राजनैतिक दलों ने हो हल्ला मचाया हो लेकिन देश की ज्यादातर जनता ने इसका समर्थन किया था तथा कई राज्यों से NRC जारी करने की मांग उठी थी. एक एक ऐसे राज्य ने बांग्लादेशी घुसपैठियों से आजादी माँगी है जहाँ लंबे समय तक वामपंथी दलों का शासन रहा है तथा हाल ही में वहां भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनी है. हम बात कर रहे हैं त्रिपुरा की जहाँ की स्थानीय जनता ने याज्य में NRC जारी करने की मांग की है.

खबर के मुताबिक़, त्रिपुरा की इंडीजिनियस नेशनलस्टि पार्टी (आईएनपीटी) के अध्यक्ष विजय कुमार हरखवाल के नेतृत्व में एक शिष्टमंडल ने देश की राजधानी दिल्ली के नार्थ ब्लाक में केन्द्रीय गृहमंत्री श्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की और राज्य में एनआरसी लागू करने का अनुरोध किया. उन्होंने दावा किया कि गृह मंत्री ने  शिष्टमंडल को आश्वासन दिया कि केंद्र उनकी मांग पर विचार करेगा.

श्री हरखवाल ने कहा कि उन्होंने गृह मंत्री को बताया है कि असम की तरह त्रिपुरा में भी बड़ी संख्या में विदेशी गैरकानूनी ढंग से रह रहे हैं ओर उनका पता लगा रहे हैं  वापस उनके देश भेजा जाना चाहिए. अाईएनपीटी ने कुछ दिन पहले ही कहा  था कि यह इस मुद्दे को लेकर उच्चतम न्यायलय में याचिका दायर करने पर विचार कर रही है. उल्लेखनीय है कि केंद्र ने असम में राष्टीय नागरिक रजिस्टर का मसौदा तैयार किया है. इसे अंतिम रूप देने के बाद वहां अवैध ढंग से रह रहे  विदेशियों की पहचान कर उन्हें उनके देश वापस भेजा जाएगा.

Share This Post