मजहबी उन्मादियों ने फिर दी हिन्दू आस्थाओं को चुनौती.. दिल्ली के बाद अब मुजफ्फरनगर के मंदिर में तोड़फोड़

मजहबी उन्मादियों द्वारा देश की राजधानी दिल्ली के दुर्गा मंदिर में तोड़फोड़ के बाद का माहौल अभी शांत भी नहीं हुआ है कि मजहबी उन्मदियों द्वारा एक बार पुनः हिन्दू आस्थाओं को चुनौती दी गई है. दिल्ली के मन्दिर में तोड़फोड़ के बाद अब उत्तर प्रदेश के मुज़फ्फरनगर में भी मन्दिर में तोड़फोड़ करने का मामला सामने आया है, जहां एक मूसा नाम के मुस्लिम समुदाय के युवक ने हनुमान जी के मंदिर पर पत्थर से प्रहार किया जिसमें मन्दिर में लगा शीशा टूट गया. मन्दिर में मौजूद पुजारी ने युवक को पकड़ लिया और पुलिस के हवाले कर दिया.

आतंक का फन कुचलना कैसे है कोई सीखे श्रीलंका से.. ईस्टर हमला न रोक पाने वाला पूर्व पुलिस प्रमुख गिरफ्तार.. एक बड़ा अधिकारी भी जेल में

मन्दिर में तोड़फोड़ की सूचना लगते ही हिन्दू संगठन के कार्यर्ताओं ने थाने का घेराव करते हुए आरोपी युवक के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की मांग की. पुलिस ने आरोपी युवक के खिलाफ संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है. मामला खतौली कोतवाली क्षेत्र में स्थित हनुमान मंदिर का है, जहाँ आज सुबह एक मुस्लिम समुदाय के युवक मूसा ने मंदिर में पत्थर मारकर मूर्ति खंडित करने का प्रयास किया. गनीमत ये रही कि शीशे पर पत्थर लगने से चकनाचूर हो गया लेकिन मूर्ति तक पत्थर नही पहुँच पाया. शीशा टूटने की आवाज सुनते ही मन्दिर के पुजारी ने आरोपी युवक को पकड़ लिया और पुलिस को सूचना देकर पुलिस के हवाले कर दिया.

सोनिया गांधी के आरोपों पर रेलमंत्री पियूष गोयल का पलटवार.. रेलवे के निजीकरण का लगाया था आरोप

तोड़ फोड़ की सूचना लगते ही हिन्दू संग़ठन के लोग पहले मन्दिर पहुँचे और उसके बाद थाने पहुचकर कोतवाल का घेराव किया और आरोपी युवक के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की मांग की. पुलिस ने भी तत्काल आरोपी युवक के खिलाफ संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जेल भेजने की तैयारी शुरू कर दी है. मूसा बुलन्दशहर जनपद के निवासी बताया जा रहा है बाकी पुलिस मूसा का इतिहास खंगालने में जुट गई है.

संसार के समस्त धार्मिकों को भगवान जगन्नाथ रथयात्रा की हार्दिक बधाई व शुभकामनाएं.. रथयात्रा पर संकल्प लें धर्मरक्षा का

सीओ खतौली आशीष प्रताप ने बताया कि सुबह यहां के पुजारी और एक मनोज व्यक्ति पूजा पाठ कर रहे थे. उस समय एक व्यक्ति वहां पर आकर पत्थर वाला घुसा मारा और तरह तरह की टिप्पणी की. उसके बाद उसे पकड़ लिया गया. पूछताछ में उसने अपना नाम मूसा बताया तथा पता बुलंदशहर खुर्जा का बताया है. इसने धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने की कोशिश की है और मूर्ति को खंडित करने की कोशिश की है इसको पकड़कर गंभीर धाराओं में इस को जेल भेजा जा रहा है. उन्होंने कहा कि इसके बारे में जानकारी की जा रही है कि यह खुर्जा से यहां किस प्रकार आया तथा क्यों मंदिर में तोड़फोड़ की.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW