तेजस्वी यादव के करीबी RJD जिलाध्यक्ष मोहम्मद चाँद से AK 47 बरामद. कब्रिस्तान का भी कनेक्शन.. आखिर कौन था निशाने पर ?

सवाल ये है कि ये भयानक और बेहद घातक हथियार चुनाव से पहले , चुनाव के दौरान या चुनाव के बाद प्रयोग होने थे ? ये वही पार्टी है जिसमे शहाबुद्दीन जैसे सज़ायाफ्ता मुलजिम भी सम्मान के साथ पुकारे जाते हैं और उनकी विरासत को उनकी पत्नी के हाथों में सौंप दिया जाता है लोकसभा का टिकट दे कर.. इतना ही नही, चारा घोटाले में सज़ा पाने के बाद भी लालू यादव और एक गलती से बोले शब्द वाले पत्रकार पर पार्टी बरस जाती है और हर तरफ हंगामा मचा दिया जाता है ..

विदित हो कि पार्टी का झंडा आदि हरा रंग में रंगने वाले राष्ट्रीय जनता दल ने घोषणा की थी कि वो सत्ता में आये तो मुसलमानों को मजबूत करेंगे.. अब उन्ही की पार्टी के एक जिलाध्यक्ष के पास से बरामद हुई है प्रतिबंधित AK 47 असाल्ट रायफल जो अब तक नक्सलियों और कश्मीर के दुर्दांत आतंकियों के पास से ही मिला करती थी.. अब अचानक ही सवाल उठने लगे हैं कि आखिर निशाने पर कौन था और कब ? इसी के साथ साध्वी प्रज्ञा पर आरोप लगाते विपक्ष ने भी चुप्पी साध ली है और मोहम्मद चांद परवेज पर कोई बयान आदि नही आ रहा है ..

मुंगेर के सहायक पुलिस अधीक्षक हरिशंकर कुमार ने बताया कि चांद की गिरफ्तारी मुफस्सिल थाना क्षेत्र के मिर्जापुर बरदह गांव स्थिति उसके घर से की गई है। उन्होंने बताया कि मोहम्मद परवेज चांद उर्फ भोलू की गिरफ्तारी मुफस्सिल थाना कांड संख्या 334/18 में पुलिस ने की है। उन्होंने बताया कि बरदह निवासी अमना खातून को गिरफ्तार किया गया था, जिसकी निशानदेही पर पुलिस ने कब्रिस्तान की चारदीवारी के पास खुदाई कर दो एके-47 राइफल एवं छह मैगजीन बरामद की थी। मुंगेर पुलिस अब तक 22 एके-47 बरामद कर चुकी है।

Share This Post