Breaking News:

अखिलेश यादव रमज़ान में रंगे मजहबी रंग में… इफ्तार पार्टी का किया आयोजन.

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव अपने मजहब से हटकर अलग मजहब में रंगते हुए नजर आए। अखिलेश यादव ने पार्टी प्रदेश कार्यालय पर इफ्तार पार्टी का आयोजन किया था, लेकिन इस इफ्तार पार्टी में सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव, चाचा शिवपाल और वरिष्ठ नेता आजम खान शामिल नहीं हुए। बता दें कि सभी में इस बात को लेकर सस्पेंस था कि मुलायम सिंह यादव, आजम खान और शिवपाल यादव इसमें शामिल होंगे की नहीं। लेकिन, इस इफ्तार कार्यक्रम में खालिद रशीद फरंगी महली, जफरयाब जीलानी जैसे मुस्लिम नेताओं के अलावा सपा नेताओं अहमद हसन, किरणमय नंदा समेत बड़ी संख्या में पार्टी नेता शामिल हुए थे। 
मुलायम ने 1992 में सपा का गठन किया था। इसके बाद उन्होंने राज्य के अल्पसंख्यकों को एकजुट किया। सपा की सरकार बनने में यूपी के यादवों के बाद मुस्लिम बहुल वोटों का बहुत बड़ा योगदान रहा है। ऐसे में मुलायम की इफ्तार पार्टियों में छोटे-बड़े सब शिरकत करते दिखे हैं। बता दें कि 1 जनवरी को सपा के राष्ट्रीय अधिवेशन में मुलायम की जगह अखिलेश को सपा का राष्ट्रीय अध्यक्ष बना दिया गया था, जबकि शिवपाल को सपा के प्रांतीय अध्यक्ष पद से हटा दिया गया था। बाद में कई अन्य मुद्दों को लेकर भी अखिलेश और मुलायम के बीच मतभेद खुलकर सामने आए थे।
Share This Post