Breaking News:

इस्लामिक आतंकी दल की भारतीय फौज को धमकी.. उसके पास है उन अफसरों की लिस्ट जिन्होंने मारे है बुरहान जैसे आतंकी…

पूरी दुनिया में शांति भंग करने वाला और आतंक का खूनी खेल खेलने वाला खूंखार आतंकवादी संगठन अल कायदा के निशाने पर अब भारतीय सेना के साथ-साथ हिन्दू संगठनों के नेता भी है। आपको बता दें कि मुजाहिदीनों संगठन अलकायदा ने अपने लक्ष्यों का आचार संहिता नाम का एक दस्तावेज जारी किया है। जिसमें बताया गया है कि आतंकवादियों का क्या लक्ष्य है और उसमे उनको क्या करना है और क्या नहीं। उस दस्तावेज में उसके बारे में विस्तार से बताया गया है।
अतंकवादियों द्वारा जारी किए गए इस दस्तावेज में बताया गया है कि सेना के जवानों के साथ उसके सभी बड़े अधिकारी भी अलकायदा के निशाने पर है। फिर सेना के जवान चाहे सीमा पर ड्यूटी में हो या अपने बैरकों में। यहाँ तक की छुट्टी पर गए सैनिकों को भी नहीं छोड़ा जायेगा, क्योंकि वे शरिया को लागू करने के खिलाफ अलकायदा से जंग लड़ रहे हैं और भारतीय सेना के हाथ हमारे कश्मीरी भाइयों के खून से सने हुए है, जिसका खामियाजा सेना के जवानों के साथ हिन्दू संगठनों के नेता को भी भुगतना पड़ेगा। 
दस्तावेज में हिजबुल मुजाहिदीन द्वारा बार-बार कश्मीर का जिक्र किया गया है। मुजाहिदीन ने यूपी के संभर के रहने वाले एक मौलाना असीम उमर को अपने यूनिट का सरगना बताया है। हिजबुल ने बताया कि पूर्व कमांडर जाकिर मूसा द्वारा नया संगठन बनाने और अल कायदा को समर्थन देने के बाद हम काफी सतर्क हैं। अल कायदा ने उपमहाद्वीप के विभिन्न आतंकी संगठनों को एक साथ आकर हिजबुल मुजाहिदीन इस्लामिक एमिरेट्स ऑफ अफगानिस्तान नाम से गठबंधन बनाने की बात कही है।
आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल के बाद अमेरिका ने आतंकवाद पर शिकंजा कसते हुए हिजबुल मुजाहिदीन के मुखिया सैयद सलाउद्दीन को वैश्विक आतंकी घोषित कर दिया है। वैश्विक आतंकी घोषित होने के बाद से हिजबुल मुजाहिदीन पूरी तरह से बौखलाया हुआ है। बौखलाए संगठन ने इसे अमेरिका सरकार की तरफ से भारत को खुश करने का तरीका बताया है, क्योकि भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की मुलाकात को आतंकवाद को जड़ से ख़त्म करने के नजरिये से देखा जा रहा है। भारत और अमेरिका के आतंकवाद के खिलाफ इस मुलाकात से अल कायदा अपने डर को छुपाते हुए खुद को बेपरवाह दिखाने की कोशिश कर रहा है।
Share This Post