अखिलेश के करीबी आज़म खान पर चल ही रहा था क़ानून का डंडा.. अब एक और करीबी भोगेगा कर्मों का फल


उत्तर प्रदेश की रामपुर लोकसभा सीट से समाजवादी पार्टी के सांसद तथा अखिलेश यादव के करीबी नेता आज़म खान इस समय कानूनी शिकंजे में फंसे हुए हैं. योगी की सत्ता में आज़म खान पर कानून का डंडा ऐसा चला है कि आज़म को कुछ कहते तक नहीं बन रहा है. एकतरफ सपा आज़म खान पर पड़ रहे कानूनी डंडे से बचने का कोई उपाय भी नहीं खोज पाई थी कि सपा का एक और नेता फिर से कानूनी शिकंजे में आ गया है.

अब तक देवर, ससुर से आये हलाला के मामले लेकिन ताजुद्दीन का मामला कुछ अलग था.. इसमें मना करने पर बीवी को मिली है दर्दनाक मौत

हम बात कर रहे हैं समाजवादी पार्टी सरकार में खनन मंत्री रहे अखिलेश यादव के करीबी गायत्री प्रजापति की जिनकी मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. चित्रकूट की रेप पीड़ित महिला कोर्ट में भले ही अपने बयान से मुकर गई हो, लेकिन अब उसकी बेटी ने गायत्री पर रेप का आरोप लगाया है. महिला की बेटी का आरोप है कि हम मां-बेटी दोनों के साथ रेप किया गया था. युवती का कहना है कि उसकी मां को डरा धमकाकर तथा लालच देकर बयान से मुकरवाया गया है.

पवित्र वेदों, रामायण व श्रीमद्भागवत गीता का विरोध करने वाले अर्बन नक्सली अपने घरो में रखते थे ये किताब.. जानिए किस के भक्त थे वो वामपंथी ?

युवती ने आरोप लगाया है कि उस पर भी बयान बदलने का दबाव डाला जा रहा है. और ऐसा न करने पर उसे जान से मारने की धमकी दी जा रही है. युवती ने दावा किया कि एक गाड़ी उसका हमेशा पीछा करती है और उसे जान का खतरा है. युवती ने आरोप लगाया कि गायत्री प्रजापति बीमार न होते हुए भी अस्पताल में भर्ती हैं. हाईकोर्ट में मेरी गवाही होनी है, इसी के मद्देनजर दबाव बनाया जा रहा है. बता दें कि चित्रकूट की एक महिला ने गायत्री प्रजापति पर रेप की एफआईआर दर्ज करवाई थी. इस मामले में मार्च 2017 से प्रजापति जेल में बंद हैं. फिलहाल स्वास्थ्य खराब होने की वजह से वह केजीएमयू में भर्ती हैं.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करें. नीचे लिंक पर जाऐं–


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...