Breaking News:

“आजम वो था जिसने रमजान के महीने में किया था मदरसे का ये हाल” .. किसने बताया ये और 50 हजार का इनाम भी घोषित कर डाला

उत्तर प्रदेश की रामपुर लोकसभा सीट से सांसद तथा बदजुबानी के लिए कुख्यात समाजवादी पार्टी के नेता आज़म खान की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही हैं. एकतरफ आजम खान के खिलाफ धड़ाधड़ मुकदमे दर्ज हो रहे हैं, जिसमें उन पर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है. तो वहीं दूसरी तरफ आज़म खान पर 50 हजार रूपये इनाम की घोषणा की गई है. लेकिन ये घोषणा पुलिस प्रशासन या फिर योगी सरकार ने नहीं की है बल्कि रामपुर के ही मौलाना बाबू अली ने की है.

मौलाना ने कहा है कि आजम खान का पता बताने वाले और पकड़ने वाली पुलिस टीम को वह खुद 25-25 हजार रुपये का इनाम देंगे. मौलाना बाबू अली ने कहा कि आजतक हिंदुस्तान में किसी सांसद के ऊपर पर 87 मुकदमे दर्ज नहीं हुए हैं. उन्होंने कहा कि 87 मुकदमे दर्ज होने के बाद भी पुलिस उनको गिरफ्तार नहीं कर रही है. ऐसा क्यों हो रहा है. मौलाना बाबू अली ने आजम खान पर आरोप लगाते हुए कहा कि आजम खान ने रमजान के महीने में हमारा जामिया सादिया मदरसा शहीद किया और 3 दिन बाद मुझे जेल में बंद कर दिया, आजम को सजा मिलनी ही चाहिए.

मौलाना बाबू अली ने कहा कि आजम ने मुझे जेल में डलवाया तथा ल में भी हमें काफी प्रताड़ित किया जाता था. उन्होंने कहा कि आठ नंबर बैरक में हमें बंद किया था और जेलर से कहा गया था इससे घास और नालियां साफ करवाओ. मैंने इसलिए उन पर इनाम रखा है क्योंकि आज तक देश के किसी भी सांसद पर इतने मुकदमे दर्ज नहीं हुए हैं. उन्होंने कहा कि आजम खान को गिरफ्तार किया जाना चाहिए तथा जेल में डाल देना चाहिए.

बता दें कि रामपुर जिला जेल के फांसी घर की जमीन खरीदने और बेचने के मामले में 32 लोगों के खिलाफ एफआईआर (FIR) लिखने की तैयारी है. इस मामले में आजम खान की पत्नी तजीन फातमा और उनकी बहन आरोपी हैं. नायब तहसीलदार कृष्ण गोपाल की तरफ से 32 लोगों के खिलाफ पुलिस तहरीर दी गई है. मामले में थाना गंज पुलिस जल्द ही की केस दर्ज कर सकती है, जिसके बाद आजम की मुश्किलें और बढेंगी.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करें. नीचे लिंक पर जाऐं–

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW