चंदौली में “जय श्री राम” वाली अफवाह का दमन करने के बाद अब बुलन्दशहर में IPS संतोष कुमार सिंह ने कुचला “बच्चा चोरी” के झूठ को

वो चौकन्नी और सतर्क निगाह समाज के लिए हर पल खुली हैं.. अगर प्रमुख की आंख खुली है तो पूरे जिले में हर कोई सतर्क है और यही सतर्कता हर कहीं विराम लगा रही अपराध पर .. भले ही वो अपराध जमीन पर किया जा रहा हो या ऑनलाइन सोशल मीडिया पर.. ये बात हो रही है वर्तमान समय में जनपद बुलन्दशहर की कमान सम्भाल रहे वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री संतोष कुमार सिंह जी की जिनके आने के बाद अचानक ही बुलंदशहर में होने लगा है व्यापक परिवर्तन ..

ध्यान देने योग्य है कि वर्तमान समय में सरकारें जितना जमीनी अपराध से परेशान हैं लगभग उतना ही वो ऑनलाइन सोशल मीडिया पर रची जाने वाली साजिशों से भी त्रस्त हैं.. बच्चा चोरी और मॉब लिंचिंग जैसी घटनाओं की जड़ में अक्सर मोबाईल से उड़ाई गई अफवाह ही पाई गई हैं .. ऐसे में जहाँ पुलिस को जमीनी स्तर पर सुरक्षा चाक चौबंद रखनी पड़ रही है तो वहीँ सोशल मीडिया पर भी कड़ी नजर रखनी पड़ रही है .. कई जिले इसमें फेल रहे लेकिन बुलंदशहर पुलिस इन दोनों जगहों पर सफल होती दिख रही है .

बुलन्दशहर पुलिस की कमान वर्तमान समय में IPS श्री संतोष कुमार जी सम्भाल रहे हैं . अपने अनुभव और निष्कलंक कार्यशैली के चलते इनके ऊपर उत्तर प्रदेश शासन ने जो विश्वास दिखाया है, उस पर शुरुआती दिनों में ही ये खरे उतरते दिखाई दे रहे हैं . जनपद चंदौली में पुलिस अधीक्षक रहते हुए जिस प्रकार से इन्होने जय श्री राम के नाम पर उड़ाई गई अफवाह का दमन किया था उसके जैसा दूसरा प्रमाण उत्तर प्रदेश ही नहीं बल्कि भारत में कहीं नहीं दिखाई देगा .

उस समय न सिर्फ सत्य को इन्होने सामने ला कर रख दिया था बल्कि अफवाह के सूत्रधारो को इन्होने जेल भेजा था.. अब वही परम्परा इन्होने बुलंदशहर में आगे बढाई है और बच्चा चोरी की सोशल मीडिया पर उड़ाई जा रही अफवाह का सतकर्ता से खंडन करते हुए आगे ऐसा न करने की साफ साफ हिदायत दी है . ये संतोष कुमार सिंह के नेतृत्व में बुलंदशहर पुलिस की चौकसी ही है जो किसी अफवाह को शुरू में ही पकड लिया जा रहा है और उसको बाकायदा हिदायत के साथ कुचल भी दिया जा रहा ..

बुलंदशहर में बच्चा चोरी की अफवाह की शुरुआत सोशल मीडिया के फेसबुक प्लेटफार्म से हुई थी . यहाँ पर तनुश्री प्रजापति नगर अध्यक्ष नाम की एक ID पर लिखा जाता है कि खुर्जा के आस पास बच्चा चोरी गैंग सक्रिय है .. इस खबर के साथ कोई भी प्रमाण संलग्न नहीं किये जाते हैं और कोई तथ्य नहीं लगाए जाते हैं ..  उसके बाद उनसे भी आगे बढ़ कर ट्विटर पर इसके जैसी अफवाह में शामिल हुए अनिल यादव जिन्होंने खुद को भारतीय जनता पार्टी का नेता लिखे हुए हैं और अपने पद में कोषाध्यक्ष लिखते हैं .

इन्होने न जाने कहाँ की वीडियो ट्विटर पर डाली और उसको बुलंदशहर की बताते हुए तथ्यहीन बाते लिख डाली .. उस ट्विट पर अफवाहों पर विश्वास करने वाले कुछ लोग भी आने लगे लेकिन इस से पहले ऐसे झूठ को पंख लगते, बुलंदशहर पुलिस ट्विटर हैंडल के नीचे आ का बताती है कि ये विडियो बुलंदशहर की नहीं है और हिदायत भी देती है कि ऐसी अफवाह उड़ाने से बाज आयें.. वीडियो वायरल होती उस से पहले ही इस प्रकार से सक्रियता ने अनिल यादव नाम के ट्विटर हैंडल से उडाये जा रहे झूठ को जनता ने परख और पकड़ लिया ..

निश्चित तौर पर सराहना की पात्र है बुलंदशहर पुलिस जिसने किसी अफवाह को पंख लगने से समय पर रोका और बेनकाब किया साजिशो को जिनके निशाने पर समाज की शांति और सुख चैन है . सुदर्शन न्यूज ऐसे तमाम कारणों और कारको को तलाशेगा और खुद को सत्ता पक्ष का नेता बताने वालों के ऐसे कृत्यों के पीछे छिपे असल कारणों की तलाश करेगा.. जनमानस से भी अपेक्षा है कि वो बनें पुलिस के सहयोगी और किसी भी घटना की ऐसी अफवाह से पहले बाकायदा पुलिस से कन्फर्म कर के उस घटना की वास्तविकता को परखें.. IPS संतोष कुमार सिंह के शानदार प्रयास चंदौली में जय श्री राम के नाम की अफवाह का दमन करने के बाद अब बुलंदशहर में बच्चा चोरी की अफवाह कुचलने के साथ अनवरत जारी हैं .. आशा है कि जमीनी स्तर और सोशल मीडिया दोनों पर एक साथ चौकसी की बुलंदशहर पुलिस की नीति बाकी अन्य जनपद भी अपनाएंगे.

देखिए अफवाह पर बुलंदशहर पुलिस का जवाब –

 

रिपोर्ट –

राहुल पाण्डेय 

सहायक सम्पादक – सुदर्शन न्यूज 

मुख्यालय नोएडा , 

मोबाइल –  9598805228

Share This Post