गौ तस्कर इरशाद की टांग पर मारी गोली और जिन्दा बचा लिया 3 गौ वंश को.. शाबास साहनी


मेरठ को उनसे बहुत उम्मीदे थीं और सिर्फ मेरठ को ही नही बल्कि लखनऊ में बैठे शासन को भी.. बेहद विषम हालात में उन्हें मेरठ सुधरने का मौका दिया गया था जिस समय कभी पलायन की खबर तो कभी पुलिस पर हमले की खबर आ रही थी.. एक बड़ी चुनौती थी जिसको उन्होंने सहर्ष स्वीकार किया और दमन किया न सिर्फ अपराध का बल्कि चरमपंथ का भी जिसकी झलक भी कुछ दिन पहले ही उन्होंने दिखाई थी जो पूरे भारत में चर्चा का विषय बना था .. पर वो अपनी जगह सही थी .

बाराबंकी , अलीगढ़ को इसी प्रकार से सुधारने वाले मेरठ के एसएसपी अजय साहनी ने एक बार फिर से मेरठ ही नहीं बल्कि भारत के हर गौ भक्त को ख़ुशी से झूम उठने का मौका दिया है . पिछली बकरीद में किसी भी हाल में ऊँट की क़ुरबानी न होने देने पर अड़े रहे थे अजय सहनी और आखिरकार उसको लागू करवा कर भी दिखाया था .. भला ऐसे पुलिस अधिकारी के इलाके में गाय कैसे कट जाती या उसकी तस्करी कैसे हो पाती . फिर भी इरशाद ने ऐसा दुस्साहस किया .

इरशाद ने अगला दुस्साहस पुलिस पर गोली चला कर किया जिसके खिलाफ कड़ा प्रतिरोध करने की छूट मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तरफ से भी है . पुलिस ने गोली का जवाब गोली से ही दिया और इरशाद की टाँगे जवाब दे गई, इसी के साथ उसके साथी गौ तस्कर सलाहुद्दीन ने भी हथियार डाल देने में ही अपना कल्याण समझा और जेल की यात्रा पर रवाना कर दिया गया.. ये मुठभेड़ मेरठ के परतापुर क्षेत्र के गगोल रोड पर हुई थी . इलाके में कई बार की तरह एक बार फिर से गूँज गया है कि – “शाबास साहनी” 


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...