JNU छात्रा बलात्कार मामले में दिल्ली महिला आयोग ने दिल्ली पुलिस को भेजा नोटिस. स्वतः संज्ञान ले कर की कार्यवाही

दिल्ली की महिलाओ को आत्मबल देने और उनके खिलाफ होने वाले हर प्रकार के अत्याचार का प्रतिकार करने के लिए समर्पित दिल्ली महिला आयोग ने एक बार फिर से JNU की २१ वर्षीया बलात्कार पीडिता मामले में स्वतः संज्ञान ले कर दिल्ली पुलिस को कृत कार्यवाही की जानकारी देने के लिए कहा है . इस मामले को खुद दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्षा स्वाति मालीवाल देख रही हैं जिन्होंने दक्षिण दिल्ली के पुलिस उपयुक्त को नोटिस जारी करते हुए निश्चित समयसीमा में उत्तर देने के लिए कहा है .
दिल्ली महिला आयोग ने 21 वर्षीया जेएनयू छात्रा के साथ बलात्कार के मामले में दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी किया है | आयोग ने मीडिया रिपोर्ट पर स्वतः संज्ञान लेते  हुए यह कार्यवाही की | मीडिया खबरों के मुताबिक छात्रा ने अपने हॉस्टल जाने के लिए जो टैक्सी किराये पर  ली, उसी के ड्राइवर ने उसके साथ बलात्कार किया | खबरों में बताया गया कि पीड़िता को कोई नशीला पदार्थ दिया गया और उसके बाद कार में उसके साथ बलात्कार किया गया, इस दौरान ड्राइवर लगभग 3 घंटे तक गाड़ी घुमाता रहा।
फिर लड़की को बेहोशी की हालत में एक पार्क में फेंक दिया गया | स्थानीय लोगों ने लड़की को बेहोशी की हालत में पार्क में पड़ा हुआ पाया।दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्षा ने दक्षिणी जिले के पुलिस उपायुक्त को भेजे गए नोटिस में इस घटना पर चिंता व्यक्त की और इस मामले में दिल्ली पुलिस से जवाब माँगा है | आयोग  आयोग ने दिल्ली पुलिस से मामले की विस्तृत रिपोर्ट, मामले में गिरफ्तारी की जानकारी और एफआईआर की कॉपी मांगी है |
साथ ही पीसीआर कॉल और पुलिस द्वारा घटना स्थल पर पहुँचने  समय की जानकारी मांगी है | आयोग ने तीन घंटे के दौरान टैक्सी द्वारा चले गए रास्ते का रूट मैप और इस दौरान इस रास्ते पर तैनात पुलिस पिकेट/चेकिंग पॉइंट / पीसीआर स्टेशन की जानकारी मांगी है | आयोग ने पुलिस को 9 अगस्त तक जवाब देने को कहा है | स्वाति मालीवाल की अभी हाल में ही उन्नाव रेप पीडिता के लिए दिखाई गई सक्रियता समाज में सराहना का पात्र बनी थी जिसमे उन्होंने खुद राजभवन जा कर राज्यपाल से मुलाकात की थी.
देखिये दिल्ली पुलिस को भेजी गई नोटिस – 
Share This Post