सुदर्शन की खबर से चरमपंथ ने टेके घुटने.. महिला पुलिसकर्मी से बदसलूकी करने वाले उन्मादी उसी शासन में हुए गिरफ्तार जिसको वो बता रहे थे अपनी सरकार

लगातार दूसरा सफल अभियान रहा सुदर्शन न्यूज का समाज के रक्षक के सम्मान और स्वाभिमान की रक्षा का . जिन उन्मादियो ने वर्दी पर आँख उठा कर खुद को कानून से ऊपर समझने की कोशिश की थी आख़िरकार उनको कानून क्या है ये समझ में आ रहा है . एक बार फिर से न्याय हुआ है छत्तीसगढ़ में जहाँ एक अवैध अतिक्रमण हटवाने के लिए न्यायोचित कार्यवाही करती एक महिला पुलिसकर्मी को उन्मादियो की भीड़ ने घेर लिया था और उसके आगे ही की बदसलूकी .

इस से पहले इसी छत्तीसगढ़ में अतिक्रमण हटाने के लिए गये पुलिस वालों के साथ सलीम दल्ला नाम के एक उन्मादी का वीडियो वायरल हुआ था जिसको सुदर्शन न्यूज ने प्रमुखता से उठाया था . इस मामले का दोषी सलीम दल्ला था जो पुलिस वालों को कैमरे के और खुद उनके ही आगे माँ बहन की गाली देता हुआ और उनको मारने दौड़ता हुआ दिख रहा है .  इतना ही नहीं वो कांग्रेस के मुख्यमंत्री का सीधा हवाला देते हुए पुलिसकर्मी को धमका भी रहा था कि उसकी पहुच सीधे मुख्यमंत्री तक है . लेकिन इस मामले में भी सुदर्शन न्यूज की खबर के बाद शासन को कार्यवाही करनी पड़ी थी उस हेकड़ीबाज़ के खिलाफ जो अपनी पहुच सीधे मुख्यमंत्री तक बता रहा है .

इस बार भी कुछ ऐसा ही था .. यहाँ भी खुल कर कैमरे पर बोलते देखा गया था कि ये सरकार उनकी है . ये ताजा घटनाक्रम था छत्तीसगढ़ के औद्योगिक शहर भिलाई का जहाँ पर जमीनों को एक वर्ग विशेष का एक लम्बे समय से कब्जा रहा है . ये सरकारी जमीन थी जिसको पहले चुपके से , फिर निवेदन से और बाद में जबरन कब्ज़ा कर लिया गया . इसी को सुदर्शन न्यूज लैंड जिहाद के नाम से बताता है जिसका भारत का तथाकथित साम्प्रदायिक बता कर बुद्धिजीवी वर्ग विरोध करता है लेकिन जब ऐसे मामले सामने आते है तो वो खामोश हो जाता है . इस वीडियो में साफ देखा जा सकता था कि पुलिस के कब्जे से गाड़ियाँ छीन ली गयी थी और उनको सडक पर पटक दिया गया थालिस वालों को माँ बहन बेटी की गाली दी गयी और महिला अधिकारी सब लाचारी से देखती रही थी .

अब उन उन्मादियो पर सुदर्शन न्यूज की खबर के बाद गिरी है गाज और होनी शुरू हुई है कार्यवाही . वहां की जनता ने भी इसको सुदर्शन न्यूज़ की ख़बर का बड़ा असर माना ..महिला पुलिस अधिकारी के साथ बदतमीजी कर धमकाने वालो को पुलिस ने आख़िरकार किया है गिरफ़्तार जो अपनी सरकार होने का दम भर रहे थे . इस मामले में अब तक आरोपियों के नाम मोहसिन, इरफान, मुस्तफा आये हैं जिनकी गिरफ्तारी हो चुकी है . इनके ऊपर पुलिस ने 5 धाराओं के तहत कार्रवाई की है .

Share This Post