प्राकृतिक आपदा को भी दंगे में बदलने लगे अंसारी…

मुस्लिम समुदाय किसी भी दंगों को बढ़ाने में कोई कसर नहीं छोड़ते। चाहे वो प्राकृतिक आपदा ही क्यों न हो। हर बार किसी न किसी बात पर ये लोग दंगे करने पर उतारू हो जाते हैं। झरिया मेन रोड के इंदिरा चौक पर भू धंसान होने से 40 वर्षीय बबलू अंसारी का बेटा रहीम जमींदोस हो गया। जिसके बाद उसे बचाने के लिए राहत-बचाव कार्य शुरू किया गया। 
भू धंसान लगभग 1500 फीट नीचे तक हुआ है और अंदर का तापमान 85 डिग्री सेल्सियस है, जिस कारण राहत-बचाव दल को खासा दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं, अंसारी ने अब इसे दंगे का रूप दे दिया है। मुस्लिम समुदाय के एक गुट ने पत्थरबाजी व तोड़फोड़ की और कई गाड़ियों के शीशे तोड़ दिए। इसके साथ ही 1000 की संख्या में जुटे लोगों ने एंबुलेंस की शीशा तोड़ दिया और वाहनों के साथ तोड़-फोड़ भी की। वहीं, दूसरे गुट के लोगों का कहना है कि वाहन में तोड़-फोड़ करना उचित नहीं है और अगर ऐसा दोबारा किया गया तो हम उचित जवाब देंगे।
Share This Post