वो हिलाल भारत का ऐसा नेता था जिसको सब कहते थे सेक्यूलर.. लेकिन हिलाल सेक्यूलर नहीं था और न ही नमक हलाल


हिलाल उद्दीन अहमद, पूर्वोत्तर के राज्य असम का वो नेता जिसे सब लोग कथित गंगा-जमुनी तहजीब का रखवाला, कथित धर्मनिरपेक्षता का बड़ा पैरोकार कहते थे. लेकिन हकीकत में हिलाल न तो सेक्यूलर था और न ही नमक हलाल बल्कि वह पाकिस्तान परस्त था. खबर के मुताबिक़, ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट(एआईयूडीएफ) के नेता हिलाल उद्दीन अहमद तथा जमीयत नेता मुश्ताक अनफर ने एक रैली के दौरान पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाये. रैली का आयोजन दोनों संगठनों ने किया था.

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) और भाजपा की यूथ विंग ने असम के होजई पुलिस थाने में हिलाल उद्दीन अहमद और मुश्ताक के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है. एबीवीपी और भाजपा की यूथ विंग के नेताओं ने दोनों को तुरंत गिरफ्तार करने व उनके खिलाफ उचित कार्रवाई करने की मांग की है. शिकायत में कहा गया है कि रैली के दौरान कार्यकर्ताओं ने पाकिस्तान जिंदाबाद, हिंदुस्तान मुर्दाबाद जैसे नारे लगाए थे.

गौरतलब है कि ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट(एआईयूडीएफ) असम का वो राजनैतिक दल है जिसे असम का अलगाववादी कहा जाता है. असम के कद्दावर बीजेपी नेता तथा असम सरकार में वित्त मंत्री हिमंत बिस्वा शर्मा कई बार कह चुके हैं कि एआईयूडीएफ के नेता बदरुद्दीन अजमल की असम में ताकत बढ़ती है तो असम देश का दूसरा कश्मीर बन जायेगा.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share