Breaking News:

आम्बेडकर जी कि प्रतिमा किसने गिराई थी, इसको जानकार चौंक गया है पूरा भारत.. ऐसी साजिश जो बाँट रही थी हिंदुओं को

बेनकाब हुई है वो साजिश जो देशभर के हिन्दुओं की एकता को तोड़ना चाहती थी. लंबे अरसे के बाद कायम हुई हिन्दुओं की एकता को तोड़ने के लिए हिन्दू विरोधियों ने हिन्दुओं के बीच से ही कुछ ऐसे जहरीले साँपों को खड़ा कर दिया जो जातिवाद फैलाकर हिन्दुओं की एकता तो तोड़ सकें. 2014 में नरेंद्र मोदी की बंपर जीत तथा उनके पीएम बनने के बाद से ही ऐसी तमाम साजिशों को अंजाम दिया गया जब एक योजना के तहत हिन्दुओं के सामने हिन्दुओं को ही खड़ा कर दिया गया.

इस योजना को अमलीजामा पहिनाने के लिए सबसे ज्यादा सहारा लिया गया बाबा साहेब डॉ. भीमराव रामजी आंबेडकर का जब देशभर से सिलसिलेवार तरीके से उनकी प्रतिमाएं तोड़ने की ख़बरें सामने आईं. आम्बेडकर जी की ये प्रतिमाएं तोड़ कौन रहा है जब इसका खुलासा हुआ है तो पूरा भारत चौंक गया है. मामला उत्तर प्रदेश के मेरठ का के सिखेड़ा गाँव का है जहाँ डॉ. आंबेडकर की प्रतिमा गिराने के मामले में पुलिस ने दो युवकों को गिरफ्तार किया है. आश्चर्य की बात ये है कि ये दोनों युवक स्वघोषित हितैषी संगठन भीम आर्मी से जुड़े हुए हैं.

बता दें कि चार सितंबर की रात इंचौली थानाक्षेत्र के गांव सिखेड़ा में डॉ. आंबेडकर की प्रतिमा गिराने की वजह से बखेड़ा हो गया था. आंबेडकर की प्रतिमा गिराए जाने के बाद ग्रामीणों ने जमकर हंगामा किया था. अब इस मामले में कुछ लोगों ने पुलिस को बताया कि प्रतिमा गिराने के लिए रात में ऑटो में सवार होकर लोग पहुंचे थे. पुलिस ने ऑटो के नंबर के आधार पर जांच की तो आरोपियों का सुराग लग गया. इसके बाद जो सच सामने आया, उससे हर कोई चौंक गया.

एसओ गंगानगर रवि चंद्रवाल ने बताया कि पुलिस ने नीरज पुत्र धारा सिंह व राकेश पुत्र नोराज निवासी सिखेड़ा को गिरफ्तार किया है. इन दोनों ने 4 सितंबर की रात आम्बेडकर की प्रतिमा को गिरा दिया था तथा अगले दिन नई प्रतिमा लगवाने के लिए बवाल भी किया था. इस दौरान गाँव में तनाव भी पैदा हो गया था. एसपी देहात अविनाश पांडेय का कहना है कि गिरफ्तार और फरार आरोपी अनुसूचित जाति से हैं. पूछताछ में राकेश और नीरज ने बताया कि वह भीम आर्मी से जुड़े हैं तथा संगठन के कार्यों में जाते रहे हैं.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करें. नीचे लिंक पर जाऐं–

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW