“विश्वास जीतने” की कोशिश को बड़ा झटका.. दिल्ली में गौ माता को काट कर सड़कों पर डाला था इमरान ने

2019 के लोकसभा चुनावों में बंपार जीत के बाद जब पीएम मोदी ने अपने नवनिर्वाचित सांसदों को संबोधित किया तो उसमें उनके द्वारा कही गई एक बात ने सबसे ज्यादा सुर्खियाँ बटोरीं. पीएम मोदी ने कहा था कि अब उनको देश के अल्प्संखयक(मुस्लिम) समाज का विश्वास जीतना है. खैर ये अलग बात है कि मोदी सरकार के सभी कार्य सभी धर्म समुदाय के लोगों के लिए ही हैं लेकिन इसके बाद भी पीएम मोदी स्पेशल रूप से अल्पसंख्यक मुस्लिमों का विश्वास जीतने की बात कही.

17 जून: बलिदान दिवस तृतीय सरसंघचालक परमपूज्य बाला साहब देवरस जी.. भारतमाता के वो सपूत जिनका जीवन ज्वलंत प्रेरणा है धर्मपत पर चलते हुए राष्ट्र निर्माण के कार्यों की

एकतरफ पीएम मोदी मुस्लिमों का विश्वास जीतने की बात कर रहे हैं तो वहीं दूसरी तरफ मुस्लिम समाज के कट्टरपंथी मोदी के विश्वास जीतने की सभी कोशिशों को पूरी ताकत से कुचलने पर आमादा हैं. मामला देश की राजधानी दिल्ली का है जहाँ दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने 25 हजार के इनामी इमरान को गिरफ्तार किया है. स्पेशल सेल के डीसीपी प्रमोद कुशवाहा के मुताबिक गाजियाबाद के रहने वाले इमरान को पुलिस ने 12 तारीख को उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद के लोनी से गिरफ्तार किया है.

अब्दुल्ला रोक दिए गये मंदिर जाने से.. कश्मीरी हिन्दुओं ने ठुकराया नकली सेक्यूलरिज्म और किया हर हर महादेव का उद्घोष

विश्वास जीतने की कोशिशों के बीच इमरान ने होली पर दिल्ली में हिन्दू-मुस्लिम दंगा भड़काने की कोशिश की थी. मार्च 2019 में होली के दिन हर्ष विहार इलाके में अलग-अलग जगहों पर गोवंश के अवशेष मिले थे. इसके बाद लोगों ने पुलिस को इस संबंध में जानकारी दी थी. गोवंश के अवशेष मिलने के बाद उस दौरान इलाके में माहौल तनावपूर्ण हो गया था. पुलिस को पता चला था कि होली के दिन की गोवंश के अवशेष जानबूझकर फेंके गए थे, जिससे हर्ष विहार समेत दिल्ली में सांप्रदायिक सौहार्द बिगड़े और कानून व्यवस्था पर आंच आए.

17 जून: “निर्वाण दिवस” राजमाता जीजाबाई.. भारतवर्ष की वो महान नारी शक्ति जिनके कारण आज भी गौरवान्वित है भारत का पावन इतिहास

इस घटना के बाद हिन्दू समुदाय के लोग आक्रोशित हो उठे थे तथा सड़कों पर उतर आये थे. हालांकि पुलिस ने तुरंत एक्शन लेते हुए लोगों को शांत कर माहौल को संभाल लिया था. पुलिस ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी. तफ्तीश में पुलिस को तीन नामों का पता चला था जिनके नाम परवेज, इंशाअल्लाह, लुकमान थे. इन तीनों को उसी वक्त पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था, जबकि चौथा आरोपी इमरान पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया था.

वामपंथ शासित केरल में जिन्दा जला दी गई महिला पुलिसकर्मी सौम्या, घरों का दरवाजा पीट कर मांग रही थी मदद … जलाने वाले का नाम है एजाज

पुलिस पूंछताछ में तीनों उन्मादियों ने स्वीकार किया था कि इन लोगों ने होली के दिन गो हत्या की थी और फिर अवशेष को जानबूझकर ऐसे इलाके में फेंका था जिससे होली के दिन 2 समुदायों के बीच तनाव को बढ़ाया जा सके. फरार इमरान पर पुलिस ने 25 हजार का ईनाम रखा था, जिसे अब स्पेशल सेल ने गिरफ्तार कर लिया. इमरान ने भी तीनों आरोपियों के साथ मिलकर जो साजिश रची थी उसे पूछताछ में कबूल कर लिया है. दिल्ली पुलिस का कहना है कि इमरान पर सुसंगत धाराओं में कार्यवाई की जा रही है.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW