बंगाल में खून की होली खेलने वाले उन्मादियों को दबोच लिया CRPF ने… उन्होंने बताया कि उन्हें कौन देता था सपोर्ट ?

7 चरणों में होने वाले लोकसभा चुनाव 2109 के 6 चरणों का मतदान पूरा हो चुका है तथा अब आख़िरी चरण का मतदान होना बाकी है. 7वें व आख़िरी चरण का मतदान 19 मई को होगा. अभी तक संपन्न हुए 6 चरणों के लोकसभा चुनाव में ममता बनर्जी शासित पश्चिम बंगाल में जबरदस्त हिंसा देखने को मिली है तथा इसके सीधे आरोप टीएमसी के कार्यकर्ताओं पर लगे हैं. हिंसा का आलम ये रहा है कि जहाँ राज्य में बीजेपी कार्यकर्ताओं की ह्त्या तक की गई तो वहीं बीजेपी प्रत्याशियों तक पर हमले किये गये.

जैश के 3 दुर्दांत आतंकियों को ढेर कर अमर हुआ राष्ट्र का 1 रक्षक.. आतंकियों में एक का नाम नसीर “पंडित”

स्थिति ये हो गई कि चुनाव आयोग को राज्य में भारी संख्या में केन्द्रीय सुरक्षा बल तैनात करने पड़े. वो पश्चिम बंगाल जहाँ की मुख्यमंत्री  ममता बनर्जी खुद को लोकतंत्र का सबसे बड़ा रक्षक बताते हुए नहीं थकती हैं, उस पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी के कार्यकर्ताओं द्वारा राज्य में उनकी विपक्षी भाजपा के नेताओं/कार्यकर्ताओं पर जमकर हमले किये गये, उनकी हत्याएं की गईं.

बुर्के में आतंकी आ सकते हैं तो रामलीला में वानर बने लोगों की भी जांच हो – समाजवादी पार्टी

छठे चरण के चुनाव में भी पश्चिम बंगाल में जमकर हिंसा हुई लेकिन CRPF नें मुस्तैदी से काम करते हुए हिंसा मचाने वाले गुंडों को धर दबोचा. इसकी जानकारी बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट करके दी. कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट में लिखा है कि – पश्चिम बंगाल में मतदान के अंतिम चरण में केंद्रीय बल ने TMC की गुंडा ब्रिगेड को हथियारों के साथ धर दबोचा। मतदाताओं को धमकाने और फर्जी मतदान जैसे कई हथकंडे इस बार इन गुंडों किए हैं! कैसे माना जाए कि चुनाव में धांधली नहीं हुई?

एक और प्रदेश घुसपैठी संक्रमण की कगार पर. गिरफ्तार हुए 5 रोहिंग्या जिनके पास मिला वो सब कागज़ जो होता है हिन्दुस्थानियों के पास

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

Share This Post