लड़कियों का दलाल निकला सद्दाम अंसारी.. गरीब लड़कियों को बेचकर बन रहा था अमीर

सद्दाम अंसारी उस गिरोह का सक्रिय सदस्य है जो बिहार-झारखण्ड के सीमावर्ती इलाके में मानव-तस्करी.. खासकर गरीब बच्चियों को नौकरी के नाम बेचता है. सद्दाम अंसारी साहेबगंज, तीनपहाड़, बोरियों, पाकुड़ बगैरह इलाके के कम उम्र के लड़के-लड़कियों को लालच देकर दिल्ली, पंजाब व उससे सटे इलाकों में ले जाकर वहां सक्रिय गिरोह के हाथ बेचता था. गरीब लड़कियों को बेचकर सद्दाम अंसारी खुद अमीर  रहा था.

जिस “अभिनंदन” शब्द पर है देश को नाज, उसे लेकर पीएम मोदी ने कसा कांग्रेस पर तंज.. दिया ऐसा बयान कि तिलमिला उठी कांग्रेस

खबर के मुताबिक़, भागलपुर सरकारी रेलवे पुलिस ने सद्दाम अंसारी को गिरफ्तार किया है तथा उसके साथ कम उम्र की चार लड़कियां और एक लड़के को भी पुलिस ने बरामद किया है. भागलपुर जीआरपी के थानेदार अशोक कुमार यादव ने बताया कि इन आदिवासी बच्चों के माता पिता को बहला कर शुक्रवार को ट्रेन संख्या 12367 भागलपुर-आनंद विहार सुपरफास्ट एक्सप्रेस ट्रेन से दिल्ली ले जा रहा था. इस बात की खुफिया जानकारी मिलने पर ट्रेन की बोगियों की जांच के लिए जीआरपी अधिकारियों व कांस्टेबल को लगाया गया. इसी दौरान ट्रेन की सामान्य बोगी में मानव तस्करी गिरोह का यह सदस्य सद्दाम अंसारी धरा गया.

इस्लामिक मुल्क पाकिस्तान के रडारों को किस नारे के साथ कुचल गये भारत के सैनिक, इसे बताया मोदी ने

जीआरपी थानेदार ने बताया कि सद्दाम अंसारी झारखंड के साहेबगंज ज़िले के तीनपहाड़ इलाके का वाशिंदा है. इसने पूछताछ में सीमावर्ती इलाके में मानव तस्करी के धंधे में बड़ा गिरोह सक्रिय होने की बात कबूली है. जीआरपी थानेदार के मुताबिक धरे गए मानव तस्कर से गहन पूछताछ जारी है. इसकी निशानदेही पर गिरोह के दूसरे सदस्यों को भी दबोच लिया जाएगा. बरामद नाबालिक लड़के लड़कियों का ठिकाना भी तीनपहाड़ के आसपास के गांवों में है और इनकी उम्र बारह से सोलह साल के बीच है. इन्हें पूछताछ कर इनके परिवारवालों को सौंप दिया जाएगा.

भारत के सेक्यूलर पत्रकार गये थे श्रीलंका में.. ये देखने कि वहां कौन किसके साथ अत्याचार कर रहा है.. लेकिन ये क्या किया श्रीलंका ने

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

Share This Post