अलीगढ़ में 9 साल की बच्ची का बलात्कारी AMU की मस्जिद का मौलवी गिरफ्तार.. दरिन्दे ने मासूमियत को डरा धमका के कुचला था

वो AMU मस्जिद का मौलवी था तथा सभी लोग उसका काफी सम्मान करते थे. वो शान से अपने नाम में मौलवी लगा कर खुद को एक पूरे समाज का प्रतिनिधि बताता था. मस्जिद से मुस्लिम समुदाय को मानवता, इंसानियत, अमन-मोहब्बत की तालीम देने का दावा करने वाले इस मौलवी की वास्तविक हकीकत तथा मानसिकता क्या थी, ये कोई नहीं जानता था. लेकिन जब मौलवी की हकीकत उस मासूम ने रोते हुए हुए बताई तो लोग दंग रह गये. ये मौलवी के वेश में छिपा हुआ एक बहशी दरिंदा था जिसने अपनी बहशी मानसिकता के ग्रसित होकर 9 वर्षीय मासूम छात्रा के साथ दुष्कर्म किया तथा उसके बचपन को कुचल दिया.

सुदर्शन न्यूज़ की खबर तथा सोशल मीडिया की एकता के बाद ऋचा भारती मामले में बड़ी कार्यवाही.. एक्शन में आई रघुबर सरकार

मामला उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ का है जहाँ अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी की मस्जिद के मौलवी पर 9 साल की नाबालिग के साथ डरा-धमकाकर दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है. मामले में पुलिस में महिला थाने में मुकदमा दर्ज कर आरोपी मौलवी को गिरफ्तार कर लिया है. अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी की मस्जिद में नमाज पढ़ाने वाले मौलाना मोहम्मद अफजाल पर 9 साल की नाबालिग बच्ची के साथ दुष्कर्म का आरोप लगा है. बताया जा रहा है मौलाना नाबालिग को घर पर कुरान और उर्दू पढ़ाने जाता था. इस दौरान मौलाना ने मासूम को डरा-धमकाकर उसके साथ दुष्कर्म किया.
जब घटना की जानकारी परिजनों को हुई थी तो पीड़ित बच्ची की मां ने तहसील दिवस में शिकायत दर्ज कराई. शिकायत के बाद पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए आरोपी मौलवी के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्यवाई शुरू की और आरोपी मौलवी को गिरफ्तार कर लिया. मामले में एसएसपी आकाश कुलहरि ने बताया कि एएमयू में मोउजिन के पद पर तैनात मौलवी मोहम्मद अफजाल द्वारा 9 साल की नाबालिग के साथ डरा-धमकाकर दुष्कर्म के मामले में मुकदमा दर्ज कर आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है, आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है.
Share This Post