ममता राज में कमरुल जमाल बिजली चेक करने के बहाने घुसता था घरों में और बलात्कार के बाद डाल देता था महिलाओं के गुप्तांगों में रॉड


ये घटना पढ़ने-सुनने में किसी भयावह क्राइम-थ्र‌िलर फिल्म की कहानी जैसी लग सकती है लेकिन यह कोई काल्पन‌िक फ़िल्मी कहानी नहीं है बल्कि यह हकीकत है. ये शर्मशार करने वाली भयावह घटना है मुख्यमंत्री ममता शासित पश्चिम बंगाल की जहाँ कमरुल जमा नामक हैवान दरिंदा बिजली चेक करने के बहाने घरों में घुसता था. इसके बाद वह घर में मौजूद महिलाओं को निशाना बनाता था. उनकी ह्त्या करता था, उनके साथ रेप करता था तथा फिर महिलाओं के गुप्तांगों में रॉड डाल देता था.

दरिन्दे अकबर को कुकर्मी बताया भाजपा नेता ने तो भडक उठी कांग्रेस.. वो नेता भी भडके जो हिन्दू देवी देवताओं के अपमान पर रहते हैं खामोश

मामला पश्चिम बंगाल के बर्धमान जिले का है जहाँ से राज्य पुलिस ने कमरुल जमा नामक सीरियल किलर को गिरफ्तार किया है. वो बिजली का मीटर रीडिंग के बहाने घर में आता, लूट और रेप के बाद प्राइवेट पार्ट में रॉड डालकर उनकी हत्‍या कर देता था. कमरुल जमा पर आरोप है कि वह महिलाओं की लोहे की छड़ से मारकर हत्या करता था और उसके बाद खून से लथपथ महिलाओं से सेक्स करता था. गिरफ्तारी के बाद इसे कोर्ट के समक्ष पेश किया गया जहां से इसे 13 दिनों के लिए जेल भेज दिया गया. पुलिस के मुताबिक इसके बैग से एक रॉड और साइकिल की चेन बरामद किया गया है.

श्रीलंका के मुसलमान मंत्रियों के इस्तीफे के बाद वहां के दो हिन्दू नेताओं का वो सेक्यूलर रूप दिखा जो भारत में भी नहीं दिखा अब तक

42 साल का कमरुल जमा नए फैशन के कपड़े पहनने वाला जमाल सरकार दोपहर के समय बिजली के मीटर की रीडिंग लेने के बहाने से घर में घुस जाता था और साइकिल की चेन तथा लोहे की छड़ से हमला कर देता था. पूर्वी बर्द्धमान जिले के पुलिस अधीक्षक भास्कर मुखोपाध्याय ने बताया कि वो ऐसे घरों को ही चुनता था जहां दोपहर के समय में महिलाएं अकेली रहती हों. एसपी भास्कर मुखोपाध्याय ने बताया कि जिला न्यायालय ने सोमवार को 21 मई को गोआरा गांव में हुई पुतुल मांझी की हत्या के आरोप में सरकार को 12 दिनों की पुलिस हिरासत में भेज दिया है.

कश्मीर में ईद पर उन्मादी चरमपंथियों ने बरसाए थे पत्थर तो आज भारतीय सेना ने बरसाईं गोलियां.. 4 इस्लामिक आतंकी जहन्नुम रवाना

एसपी ने बताया कि पुलिस ने अन्य चार हत्याओं के मामले में पूछताछ के लिए सरकार को हिरासत में रखने की मांग की थी क्योंकि ये सारी हत्याएं एक ही तरीके से की गई थीं. ऐसी कई औरतें थी जो इस छोटे कद के आदमी के हमले से बच निकलती थीं. ऐसे में सरकार का तरीका यह था कि वह साइकिल की चेन से गला घोंटकर मार देता था और फिर उनके सिर पर लोहे की छड़ से मारता था ताकि उनकी मौत पक्की हो जाए. मुखोपाध्याय ने बताया, “हालांकि उसने शिकारों के घर से कुछ कीमती चीजें ली हैं लेकिन इन हत्याओं का कारण चोरी करना नहीं लगता. महिलाओं की हत्या करना उसका मुख्य मकसद लगता है.”

जिसने त्यागा हिन्दू धर्म उसको त्यागा हिन्दुओ ने.. गाँव में उसके घर की तरफ देखना भी घोषित हुआ पाप

पुलिस ने यह भी बताया कि कुछ हत्याओं में यह भी पाया गया है कि कथित तौर पर आरोपी ने मौत के बाद कुछ महिलाओं के गुप्तांगों में नुकीली चीजें भी घुसाई हैं. एसपी ने इस मामले में कहा, हम उससे इस मामले में पूछताछ कर रहे हैं कि उसने अधेड़ उम्र की महिलाओं को अपना शिकार क्यों बनाया? जमाल को जैसे ही पता चलता था कि महिला घर मे अकेली है वह अपने पास रखे रॉड से सर पर वार करता था. घायल महिलाओं को मारने के लिए वह तेज धारदार हथियार से प्राइवेट पार्ट पर हमला करता था, सेक्स करता था तथा उनके प्राइवेट पार्ट में रॉड डालकर का कीमती सामान लेकर फरार हो जाता था.

शतक लगने जा रहा हिंदूवादी नेताओं की ह्त्या का एक प्रदेश में.. जानिये कौन सा प्रदेश है वो जहाँ दिया जा रहा इतना बलिदान

पुलिस ने बताया है कि सरकार 27 जनवरी को अनुखाल इलाके में हुई पुष्पा दास की हत्या के मामले में भी संदिग्ध है. इसके अलावा 4 अप्रैल को हुई रीता रॉय और ममता किश्कू की कुछ ही घंटों में हुई हत्याओं के मामले में भी संदिग्ध है. ये दोनों ही हत्याएं जिले के मेमारी पुलिस स्टेशन इलाके में हुई थीं. मेमारी की ही सोनी यादव की हत्या भी ठीक इसी तरह से हुई थी. पुलिस ने कहा, रोंगपारा की की स्वरूपा बीबी उन चंद भाग्यशाली महिलाओं में से हैं जो उसके हमले से बच भागीं. उनपर कथित तौर पर पिछे से एक साइकिल चेन से हमला हुआ था लेकिन वे हमलावर को झटकने और शोर मचाने में कामयाब रही थीं.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करें. नीचे लिंक पर जाऐं।


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share