Breaking News:

वो 2 भाई थे जो बार बार धमकी दे रहे थे स्टेशनों को बम से उड़ाने की… पुलिस ने पूछा कि क्यों करते थे ऐसा तो दिया सनसनीखेज जवाब

उत्तर प्रदेश के शामली, मेरठ और गाजियाबाद आदि जिलों में पुलिस की ऑफिशियल मेल पर वेस्ट यूपी के शामली और दिल्ली के निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन को 72 घंटे में बम से उड़ाने की धमकी भरे ईमेल भेजने के मामले में शामली पुलिस ने दो भाइयों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने शामली बस स्टैंड से मेरठ के कंकर खेडा थाना नगला ताशी गांव निवासी गुलजार और उसके भाई शहजाद को गिरफ्तार किया है. पुलिस पूंछताछ में उन्मादियों ने जो बताया है वो काफी हैरान करने वाला है.
एसपी शामली अजय कुमार ने पत्रकार वार्ता में मामले का खुलासा करते हुए बताया कि ईमेल आईडी के माध्यम से साइबर सेल ने गूगल से मदद ली और उसके आधार पर ईमेल आईडी एड्रेस का पता लगाकर उनकी मोबाइल लोकेशन व नंबर के माध्यम से दोनों को गिरफ्तार किया है. एसएसपी के अनुसार पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि उन पर 25 लाख का कर्ज है. इसी कारण उन्होंने कर्ज से बचने के लिए गूगल से कई जिलों के पुलिस कार्यालय की ईमेल आईडी ली और उस पर धमकी भरे मैसेज कर दिए. एसपी ने बताया कि इनके पास से बरामद तीन मोबाइल फोन की जांच की गई तो उसमें कई गंभीर ऑडियो रिकॉर्डिंग मिली हैं, जिनमें गंभीर बातें दर्ज हैं।
पता चला है कि मेरठ और गाजियाबाद के कई लोग इन के संपर्क में हैं. फोन में ऑर्डर मिलने और आखरी दिन जैसी बात हैं. इस आधार पर पुलिस गुलजार को संदिग्ध आतंकी मानकर चल रही है. एसपी के अनुसार आरोपियों से बरामद मोबाइल फोन की एटीएस के माध्यम से लैब में जांच कराई जाएगी. एसएसपी के अनुसार जरूरत हुई तो इस केस की विवेचना एटीएस को भी रेफर की जा सकती है. इस बात का पता लगाए जा रहा है कि इन लोगों पर वास्तव में 25 लाख का कर्ज है या नहीं। दोनों आरोपी बार-बार बयान भी बदल रहे हैं. एसएसपी ने बताया कि दोनों ने दीनी तालीम भी ली हुई है. इनका गाजियाबाद में एक गुरु है जिससे यह बातें करते हैं तथा उसके संपर्क में बने हुए थे.
Share This Post