अपने इरादों पर अटल असम सरकार ने दिखाई द्रढ़ता… लगभग 30 हजार को भेजा बांग्लादेश

जिन आशाओं तथा अपेक्षाओं के साथ असम की जनता ने राज्य में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनाई थी..असम सरकार उन अपेक्षाओं को पूरा करने के लिए द्रढ़ संकल्पित नजर आ रही है. प्राप्त हुई खबर के मुताबिक़ असम सरकार लगभग 30 हजार बांग्लादेशी घुसपैठियों को वापस बांग्लादेश भेज चुकी है. असम के उद्योग मंत्री चंद्र मोहन पटवारी ने विधान सभा में कांग्रेस विधायक नजरूल हक के सवाल का जवाब देते हुए कहा कि विदेशी न्यायाधिकरण ने असम में अवैध रूप से रह रहे 91,609 विदेशियों की पहचान की है. इनमें से राज्य सरकार अब तक 29,795 को बांग्लादेश भेज चुकी है.

विदेशी न्यायाधिकरण के आकड़ों का हवाला देते हुए मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल की सरकार में मंत्री  चंद्र मोहन पटवारी ने कहा कि इस साल 31 मार्च तक 91,609 अवैध विदेशियों की पहचान की गई है. इनमें से जहां 128 को 31 अगस्त तक प्रत्यर्पित किया जा चुका है, वहीं चार अन्य को निष्कासित किया गया है. जबकि इससे पहले 31 दिसंबर, 2017 तक 29,663 विदेशियों को बांग्लादेश भेजा जा चुका है। पटवारी ने बताया कि असम के छह बंदी कैंपों में 31 बच्चों सहित 1,037 अवैध विदेशी रह रहे थे. मंत्री चन्द्र मोहन पटवारी ने कहा कि उनकी सरकार अवैध घुसपैठियों को वापस भेजने के लिए संकल्पित है.

राज्य के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल की गैरमौजूदगी में उद्योग मंत्री चन्द्र मोहन पटवारी ने विपक्ष के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि उनकी पार्टी जब विपक्ष में थी, उसी समय से अवैध घुसपैठ के खिलाफ बोलती रही है तथा हमने वादा किया था कि अगर हम सत्ता में आये तो अवैध घुसपैठियों को बाहर निकालेंगे. मंत्री पटवारी  ने कहा कि न सिर्फ असम बल्कि हिंदुस्तान की एकता तथा अखंडता के लिए संकल्पित अपने वादे के अनुरूप हमने बांग्लादेशियों को वापस भेजा है तथा आगे भी ये  प्रक्रिया जारी रहेगी.

Share This Post