भारत में शुरू हुई ईराक और सीरिया जैसी वारदातें… नहीं छोड़ा गया उस बच्ची को भी जो मानसिक रूप से थी दिव्यांग.. घर में घुसकर हुआ दुराचार

आखिर वो कौन सी सोच है जो महिलाओं को सिर्फ और सिर्फ एक खिलौना मात्र समझती है? आखिर वो कौन सी सोच है जो अपनी हवस की  पूर्ती के लिए दरिंदगी की सारी हदें पार कर देती हैं तथा इसके लिए कुछ भी करने पर उठाऊ हो जाती है? ये सोच न तो अपनी माँ की आयु  की महिलाओं का लिहाज करती है और न ही छोटी बच्चियों को छोडती है.. सवाल उठता है कि ए दिन महिला सम्मान के साथ खिलवाड़ करने वाले लोग क्या वास्तव में इंसान कहलाने लायक हैं?

ऐसी ही दुराचारी, बहसी सोच का शिकार पूर्वोत्तर के राज्य असम की युवती हुई है जिसके साथ अफजल अली नामक दरिन्दे ने बेरहमी के साथ बलात्कार किया तथा उसकी इज्जत को तार तार कर दिया. इसमें सबसे शर्मनाक बात ये है कि अफजल अली के बहसीपने का शिकार हुई पीडिता मानसिक रूप से विक्षिप्त है. मामला असम के गुवाहाटी के पानीखेती थानांतर्गत आमगांव का है जहाँ घर में घुसकर अफजल अली से युवती की इज्जत के साथ खिलवाड़ किया. बाद में पुलिस ने अफजल अली को गिरफ्तार कर लिया.

बताया गया है कि मानसिक रूप से विकारग्रस्त युवती के परिज किसी कार्य से बहार गये हुए थे तथा युवती घर पर अकेली थी. बस इसी का फायदा उठाया अफजल अली ने तथा वह पीडिता के घर में घुस गया तथा युवती के कपडे आदि फाड़ दिए व उसके साथथ दरिंदगी करने लगा. युवती की चीख सुनकर आस पड़ोस के लोग आ गये जिसके बाद अफजल अली ने भागने का प्रयास किया लेकिन पड़ोसियों ने आरोपी को पकड लिया तथा जमकर उसकी पिटाई की तथा पुलिस बुलाकर उसको पुलिस के हवाले कर दिया.

Share This Post