रौंगटे खड़े हो जायेंगे #BJP नेता के इस बयान के बाद,, जिसमें बताया गया है बांग्लादेशी घुसपैठ का वो सच जहां तक कोई सोच भी नहीं सकता..

कांग्रेस पार्टी पर हमेशा से ही आरोप लगता रहा है कि उसके शासनकाल में देश में खासकर असम में अवैध बांग्लादेशी मुसलमानों की तादात बड़ी है तथा ये अवैध बांग्लादेशी मुस्लिम आतंकी संगठनों के साथ मिलकर हिन्दुस्तान की सुरक्षा के बड़ा खतरा बन रहे हैं. असम में अवैध बांग्लादेशी मुस्लिम एक बड़ा मुद्दा बने हुए हैं तथा राज्य की जनता भी इनसे तंग आ चुकी है. इसी को लेकर असम राज्य के भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता रूपम गोस्वामी ने कांग्रेस पार्टी को लेकर ऐसा बयान दिया है जिसे जानकर हर कोई हैरान रह जायेगा. गोस्वामी ने कहा है कि इस समय कांग्रेस पार्टी के 25 विधायकों में से 15 विधायक अल्पसंख्यक समुदाय से है और इनमे से 13 ऐसे विधायक है जिनके वंशज बांग्लादेशी हैं.

रूपम गोस्वामी ने कांग्रेस पार्टी पर हमला करते हुए कहा कि कांग्रेस ने सत्ता के लालच में हमेशा प्रदेश की सुरक्षा को ताक पर रखकर राजनीति की है तथा साथ ही संदिग्ध लोगों को शरण देकर भारतीय लोकांत्रिक व्यवस्था का हिस्सा बनाकर असमिया जाति व प्रदेश की सुरक्षा को खतरे में डाल दिया है. गोस्वामी ने असमिया जाति व संस्कृति पर घड़ीयाली आंसू बहाने का आरोप लगाते हुए वहा कि कांग्रेस सूबे की जनता को सदैव भ्रमित कर शासन करती आई है. यहां तक कि राज्य में अवैध रूप से रहने वाले घुसपैठियों के खिलाफ शुरू होने वाले आन्दोलन और भाषा आंदोलन का विरोध किया था, जबकि आज राज्य की जनता ने जब उन्हें सत्ता से बाहर का रास्ता दिखा दिया तो उन्हें जाति व संस्कृति याद आ रही है.

रूपम गोस्वामी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने हमेशा से असम के साथ धोखा किया है. उन्होंने देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू पर निशाना साधते हुए कहा कि वर्ष 1962 में चीन द्वारा भारत पर हमले के दौरान पूर्वोत्तर को बाचने के लिए मजबूती से खड़े होने की बजाय उन्होंने असम समेत पूर्वोतर के लोगों को बॉय -बॉय कहा था, असम की जनता इसे अभी तक भूल नहीं सकी है. गोस्वामी ने कांग्रेस पर हमलावर होते हुए कहा कि बांग्लादेशी के नाम सुनते ही कांग्रेस पार्टी छटपटाने लगती है, लेकिन यह गंभीर बात है कि राज्य में बलात्कार जैसे जघन्य घटनाएं हो या चोरी-डकैती समेत अन्य 90 प्रतिशत आपराधिक घटनाओं में इन घुसपैठियों का हाथ होता है. उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों को बचाने तथा शरण देने वाली पार्टी को प्रदेश की जनता कभी माफ नहीं करेगी. उन्होंने कांग्रेस को सलाह देते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी को पहले असमिया समाज के लिए काम करना चाहिए और बांग्लादेशियों को शरण देने वाली राजनीति बाद में करनी चाहिए.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW