असम की उस जांबाज महिला ने बहसी कासिम अली को दी है वो सजा कि अब वो बलात्कार शब्द सुनकर ही कांपेगा

कासिम अली के लिए महिलायें सिर्फ एक खिलौना थी, भोग की वस्तु थी. कासिम अली ऐसी सोच से ग्रसित था जो ये मानती थी की महिलायें तो पुरुषों की हवस की आग बुझाने के लिए ही होती है. उस दिन भी कासिम अली ने यही सोचा तथा हवस की भूख में अंधा होकर उस महिला के साथ बलात्कार करने के लिए उसके ही घर में घुस गया तथा जबरन बलात्कार करने लगा. लेकिन महिला उसके नापाक इरादों को भांप गयी तथा बलात्कारी कासिम अली को ऐसी सजा दी कि जिसने भी सूना वही हक्का बक्का रह गया. महिला ने कासिम अली का गुप्तांग ही काट दिया.

घटना असम के नगांव जिले के बताद्रावा इलाके के पास धानिया भेति की है. मिली जानकारी के मुताबिक़, बहशी दरिंदा कासिम अली पीडि़ता के घर में उस वक्त घुस गया जब वह अकेली थी. इसी स्थिति का फायदा उठाते हुए कासिम अली ने महिला से बलात्कार की कोशिश की. महिला ने काफी जद्दोजहद की खुद को बचाने की लेकिन कासिम अली के सर पर तो हवस का भूत सवार तथा तथा वह किसी भी हालात में महिला का बलात्कार करने पर आमादा था. इसके बाद महिला ने उसको वो सजा दी कि अब कासिम अली बलात्कार शब्द सुनकर ही कांप उठेगा. महिला ने कहा कि कासिम अली! तू महिलाओं को खिलौना समझता है न तो ठीक है, आज के बाद तेरी जिन्दगी खिलौना बनकर  ही तह जायेगी तथा आज के बाद तू किसी महिला से बलात्कार करना तो ऐसा सोच भी नहीं पायेगा.

इसके बाद महिला ने कासिम अली को धक्का दिया तथा घर में प्रयोग किये जाने वाले धारधार हथियार से आत्म रक्षा में कासिम अली के प्राइवेट पार्ट को ही काट डाला. इसके बाद शोर शराबा सुनकर सुनकर स्थानीय लोग महिला को बचाने के लिए आए और आरोपी को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया. बाद में पुलिस मौके पर पहुंची और हालात को संभाला. आरोपी का फिलहाल नगांव सिविल अस्पताल में इलाज चल रहा है. इस घटना को जिसने भी सुना उसने ही महिला के जज्बे की तारीफ की, महिला को सैल्यूट किया.

Share This Post