Breaking News:

हंगामे के साथ शुरू हुआ विधानसभा सत्र, राज्यपाल पर फेंके कागज के गोले, बजाई सीटियां

लखनऊ : उत्तर प्रदेश विधानसभा सत्र की कार्यवाही का पहला दिन था। 17 वीं विधानसभा के गठन के बाद विधानमंडल का पहले सत्र के शुरु होते ही हंगामा भी शुरु हो गया। राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान विपक्षी पार्टी ने उनपर पर्चें फेंके। विपक्ष ने सदन में हंगामे के साथ सीटिेयां बजाईं और वेल को घेरकर राज्यपाल पर प्लेकार्ड दिखाने लगे।

राज्यपाल के बगल में खड़े मार्शल तख्ती से कागज के गोलों से राज्यपाल का बचाव किया। लेकिन राज्यपाल ने हंगामे के बीच अपना भाषण जारी रखा और पूरा किया। बता दें कि आज विधानसभा में राज्यपाल ने राज्य में कानून की स्थिति पर कोई बात नहीं की। इस बात से नाराज और पहले से तैयार विपक्ष ने प्रदर्शन के दैरान खूब हंगामा किया। सभी सपा नेता लाल टोपी पहनकर आए हैं और हाथों में सीटी भी है।

कानून व्यवस्था को लेकर विपक्ष लामबंद है। गौर है कि यूपी में भाजपा की सरकार आने के बाद ये पहली बार सत्र शुरू हुआ है। ये सत्र 22 मई तक चलेगा। इस मामलें मे विपक्ष के हंगामे पर यूपी कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि हम आशा करते हैं कि विपक्ष अपनी सकारात्मक भूमिका निभाएगा।

सिद्धार्थ नाथ ने कहा कि कानून-व्यवस्था के मुद्दे पर विपक्ष को आत्मनिरीक्षण करना चाहिए। वहीं, विपक्ष के विरोध को झेलने के लिए बीजेपी की पूरी तैयारी है। सरकार भी करीब 2 महीने के शासनकाल के दौरान अपने कामों का खाका पेश करेगी। हालांकि, सदन में विपक्ष का संख्या बल महज 74 विधायकों का है, लेकिन हाल ही में बुलंदशहर, सहारनपुर, संभल और गोंडा में जातीय और सांप्रदायिक हिंसा को मुद्दा बनाकर सरकार के पक्ष को कमजोर करने की कोशिश होगी।

Share This Post