Breaking News:

आगरा में दलितों की बस्ती पर मजहबी उन्मादियो का भीषण हमला.. UP पुलिस ने बचाए प्राण. पीड़ितों के साथ खड़े हुए हिन्दू संगठन

अभी कुछ समय पहले ही भीम आर्मी ने धमकी भरे अंदाज़ में कहा था कि वो भारत बंद करवा सकते हैं तो जला भी सकते हैं . उसके अलावा खुद को दलितों के नेता बताने वाले व आतंकियों की पैरवी के लिए कुख्यात उमर खालिद के साथी जिग्नेश मेवानी तक ने कहा था कि दलित और मुसलमान एक हों .. लेकिन अचानक ही उन तमाम दावों और वादों पर सवालिया निशान लग गया है और आगरा में दलितों की बस्ती पर भयानक हमला करते हुए मजहबी उन्मादियो ने अपने खतरनाक इरादे जाहिर कर डाले .

हालात ये बने कि अगर पुलिस मौके पर पहुच कर हालात को अपने काबू में न लेती तो स्थिति और भी ज्यादा ख़राब हो गयी होती . पुलिस की तमाम सतर्कता के बाद भी अब तक 10 लोग उन्मादियो के हमले में घायल हो चुके हैं जिनका इलाज़ स्थानीय अस्पतालों में करवाया जा रहा है . इस मामले में अब तक दलित हितों के तमाम तथाकथित शुभचिंतको में से किसी एक ने भी आवाज नहीं उठाई है और पीड़ित दलित परिवारों के साथ हिन्दू संगठन खड़े दिखाई दे रहे हैं .

आगरा के संवेदनशील कहे जाने वाले क्षेत्र मंटोला के टीला नंदराम में रविवार रात सांप्रदायिक बवाल हो गया। इस पूरे विवाद का कारण एक युवक को टांग अड़ाकर गिरा देना बताया गया है। इसके बाद दोनों समुदाय के लोग आमने सामने आ गए। इस हरकत से साफ पता चलता है कि विवाद को जानबूझ कर बढाया गया था .  बताया गया है कि पथराव हुआ, फायरिंग हुई, बोतलें भी फेंकी गईं। पथराव में दस लोग घायल हो गए। सोमवार सुबह भी इस क्षेत्र में भारी तनाव बना हुआ है। कई थानों की फोर्स तैनात की गई है।

बताया गया कि प्रमोद नाम का युवक मुंडापाड़ा में आरओ प्लांट से पानी लेने गया था। वह पानी लेकर घर आ रहा था। आरोप है कि दूसरे समुदाय के युवक ने टांग अड़ाकर उसे गिरा दिया। वह वहां से आकर परिवार के लोगों को लेकर पहुंचा तो उधर से बल्लू, अकरम, यूसुफ, शेरा और मजीद समेत सैकड़ों लोग आ गए। उन्होंने अनुसूचित जाति की बस्ती पर हमला बोल दिया। उधर, मौके पर मौजूद लोगों का कहना है कि पथराव दोनों ओर से हुआ। अकरम, शेरा पक्ष की ओर से बोतलें भी फेंकी गईं और फायर भी किए गए। पथराव में प्रमोद पक्ष के अरुण प्रसाद, धीरज, प्रमोद, चंद्रा देवी, प्रेम चंद घायल हो गए।

पुलिस के पहुंचने पर बलवाई भाग गए। कई घरों पर ताले लटके मिले। मुंडापाड़ा में पूरी सड़क पत्थरों और कांच से पट गई थी। तनाव को देखते हुए छत्ता से लेकर सदर सर्किल तक की फोर्स तैनात की गई है। सोमवार सुबह भी इस क्षेत्र में तनाव देखने को मिला। एसपी सिटी प्रशांत वर्मा ने बताया कि इस बवाल में शामिल आरोपियों की शिनाख्त की जा रही है। उनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार दबिश दे रही है। एहतियातन फोर्स तैनात कर दी गई है।

 

Share This Post