Breaking News:

भाजपा को वोट देकर लौट रहे दलित परिवार पर उन्मादियों का हमला… नफरत की राजनीति ले रही खूनी रंग

पिछले कुछ सालों में राजनीति के कारण जो नफरत की दीवार खींचने की कोशिश की गई है, वो अब खूनी रूप लेती हुई दिखाई दे रही है. केंद्र में मोदी की सरकार बनने तथा जनता द्वारा अन्य राजनैतिक दलों को खारिज किये जाने के बाद जिस तरह से बीजेपी व मोदी विरोधियों ने जो राजनीति शुरू की है, उसके दुष्परिणाम सामने आने लगे हैं. एकतरफ तमाम विपक्षी दल मोदी विरोध में किसी भी हद तक जाने को तैयार दिख रहे हैं तो वहीं दूसरी तरफ उनके समर्थक हिंसा पर उतारू दिखाई दे रहे हैं.

अहमद को अपना कार्यकर्ता बहुत विश्वास से बनाया था भाजपा ने.. अब वही बना पूरे एक प्रदेश में उनके लिए आफत

मामला उत्तर प्रदेश के इटावा का है भाजपा को वोट देने पर सपा समर्थकों ने घर पर हमला बोलकर लाठी-डंडों और धारदार हथियारों से पूरे दलित परिवार को जमकर पीटा. इसके बाद पीड़ित भाजपा प्रत्याशी रामशंकर कठेरिया के पास पहुंचे. कठेरिया ने इस मामले में थानाध्यक्ष से बात की. इसके बाद थानाध्यक्ष ने मुकदमा दर्ज कर पीड़ितों का मेडिकल कराया. खबर के मुताबिक, इकदिल कस्बा निवासी शशिबाला पत्नी स्व. लालजी दिवाकर ने बताया कि उन्होंने भाजपा को वोट दिया था.

चंदौली पुलिस को मिली बडी़ सफलता, 15000 रुपए का इनामियां लुटेरा अभियुक्त गिरफ्तार, कब्जे से एक अदद तमंचा व कारतूस बरामद

उनका आरोप है कि इससे नाराज होकर सोमवार रात करीब आठ बजे सपा समर्थक भोलू पुत्र कल्लू खां ने 40-50 समर्थकों के साथ उनके घर पर हमला बोल दिया. घर में घुसकर शशिबाला के बेटे दीपक और बजरंगी के साथ मारपीट की. हमलावरों ने घर में मौजूद महिलाओं के साथ छेड़छाड़ भी की. चिल्लाने पर बचाने आए राहुल पुत्र रामदास के साथ भी मारपीट की. हमलावरों ने काफी देर तक घर में उत्पात मचाया. शिकायत करने पर यूपी 100 पुलिस मौके पर आई लेकिन बिना कार्रवाई किए लौट गई.

गर्मी में AC से न निकलना पड़े इसलिए रोड शो में भेज दिया अपना पुतला.. राजनीति ऐसी भी

पीड़ित शशिबाला ने बताया कि रात में थाना पुलिस भी मौके पर नहीं आई. इस पर वह बच्चों को लेकर इटावा स्थित भाजपा प्रत्याशी रामशंकर कठेरिया के कार्यालय पर पहुंची. कठेरिया के थाने फोन करने के बाद पुलिस हरकत में आई. शशिबाला की तहरीर पर पुलिस ने भोलू पुत्र कल्लू खां, गुड्डू पुत्र कल्लू खां, चिंटू पुत्र इम्तियाज खां, साबिर, सूरज और इम्तियाज खां पुत्र सकूर खां के खिलाफ घर में घुसकर मारपीट, छेड़छाड़, अनुसूचित जाति उत्पीड़न समेत कई गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है.

अपने कुछ समर्थको को राजनीति में आता देख कर दुस्साहसिक हुए नक्सली.. हमले में देश के 15 योद्धा फिर वीरगति को प्राप्त

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

Share This Post