अबीर गुलाल उड़ाते हिन्दुओं पर मजहबी उन्मादियो का भीषण हमला.. चर्चा सिर्फ गुरुग्राम की ही क्यों, मुरादाबाद की क्यों नहीं ?

एकपक्षीय खबरों को दिखाने और उसको राजनीति के गलियारों में चटकारे लेने वालों से यकीनन इस मामले में सवाल बनेगा कि निगाहें और आवाज सिर्फ गुरुग्राम की तरफ ही क्यो ? मुरादाबाद में जो कुछ भी हुआ उस पर किसी की नजर क्यों नहीं .. क्या सिर्फ एकपक्षीय दमन और बदनामी से वो उस समाज के निर्माण की कामना कर रहे हैं जो उनके हिसाब से गांधी ने सपनों में देखा था . मुरादाबाद में होली के दिन हिन्दुओ पर हुआ है हमला जिसमे एक महिला हुई है घायल .

जिस सैम पित्रोदा के खिलाफ देश मांग रहा था कार्यवाही उसके साथ कुछ ऐसी पेश आई कांग्रेस.. वो हुआ जो सोचा भी न था

जिला मुरादाबाद के ग्राम भगतपुर टांडा में शुक्रवार को होली के पर्व पर हिंदू समुदाय के लोग चौपाई जुलूस निकाल रहे थे, जुलूस जब मुस्लिम समुदाय के मोहल्ले में पहुंचा तब वहां पर पहले से जमा मुस्लिम समुदाय के लोगों ने उसको नई परंपरा बता कर विरोध जताया। इतना ही नहीं उन्होंने बेहद अपमानजनक शब्दों का प्रयोग हिन्दुओ की परम्परा पर किया .. इसी को लेकर हिन्दुओ ने विरोध किया तो उधर से कश्मीरी अंदाज़ में भयानक पत्थरबाजी शुरू हो गयी .

होली में गुलाल लगाने वाले सुन्नत उल्लाह का हो रहा है वो हाल जिसके बाद आप सोच में पड़ जायेंगे सेक्यूलरिज्म के मामले में

इतना ही नहीं , मुस्लिम बहुल इलाके में एक प्रकार से मोर्चाबंदी जैसी कर दी गयी और उन्मादी नारे लगाए जाने लगे ..सूचना मिलते ही पुलिस के आला अफसरों के साथ भगतपुर, भोजपुर, डिलारी और ठाकुरद्वारा समेत कई थानों की पुलिस फोर्स को मौके पर बुला लिया गया। पुलिस ने पहुंचकर स्थिति को काबू में किया। इसके बाद पीएसी मौके पर पहुंच गई। पुलिस फोर्स की मौजूदगी में चौपाई का जुलूस निकाला गया. कश्मीरी अंदाज़ में की गयी इस पत्थरबाजी में दर्जनों घायल हुए हैं .

नेताजी सुभाष जयंती विशेषांक – नागालैंड में नेताजी के गांव रुजाओ को आज गोद ले रहे हैं श्री सुरेश चव्हाणके जी..आप भी बनें इस महान राष्ट्रप्रेम में उनके सहभागी

Share This Post