पत्थरबाजों के लिए रोने वाले क्या इस पुलिस अधीक्षक के लिए भी मांगेगे इंसाफ जिसके साथ हुआ इतना बड़ा दुस्साहस


कुछ नेताओं के मुह से अपने लिए मासूम शब्द  व् दिल्ली तक अपने समर्थन में उठी आवाज का नाजायज फायदा कश्मीरी चरमपंथी किस तरह से उठा सकते हैं इसका वीभत्स रूप तब देखने को मिला जब चरमपंथियों ने किसी साधारण व्यक्ति को नहीं बल्कि पुलिस अधीक्षक को लिया अपने निशाने पर.


यह दुस्साहसिक घटना दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले के हज़रत बल पुलिस अधीक्षक के साथ घटी जहां लगभग 4 चरमपंथियों ने पुलिस अधीक्षक के घर में घुस कर पहले अंधाधुंध फायरिंग की उसके बाद पूरे घर में भीषण तोड़फोड़ मचाई. मानवता के सभी सिद्धांतों को तार तार करते हुए उग्रवादियों ने जाते जाते पुलिस अधीक्षक के वृद्ध पिता को पीट डाला और सारे खिड़की शीशे तोड़ डाले.


पाकिस्तान से ले कर दिल्ली तक से मिल रहे समर्थन से उत्साह में आये आतंकियों का यह इसी हफ्ते कश्मीर पुलिस पर दूसरा हमला है. अभी कुछ दिन पहले ही ठीक इसी अंदाज़ में कश्मीर पुलिस के 1 इन्स्पेक्टर व् 1 सिपाही के घर में भी ठीक इसी प्रकार से हवाई फायरिंग कर के तोड़फोड़ मचाई गयी थी. 


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share