महिला कांवड़ियों पर बरसने लगे पत्थर.. जब तक कोई कुछ कर पाता तब तक लगने लगे उन्मादी नारे.. पुलिस आई तो उसे भी नहीं छोड़ा.. ये बिहार है

ये बिहार है..उन सेक्यूलर नीतीश कुमार की सत्ता वाला बिहार जहाँ पिछले दिनों ही एक चिट्ठी वायरल हुई थी, जिसमें आरएसएस सहित तमाम हिन्दू संगठनों की निगरानी के आदेश दिए गये. लेकिन अब उसी बिहार में महिला कांवड़ियों पर हमला हुआ है तथा ये हमला किया गया है कथित शांतिप्रिय मुस्लिम समुदाय के लोगों द्वारा. खबर के मुताबिक़, बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के बरुराज थाना क्षेत्र में एक मस्जिद के पास से गुजर रहीं महिला कांवरियों पर कथित तौर पर पत्थर फेंके गए. महिला कांवड़ियों को बचाने के लिए आई पुलिस पर भी हमला किया गया. चलते इलाके में स्थिति तनावपूर्ण हो गई और इलाके में भारी संख्या में पुलिसबल की तैनाती करनी पड़ी.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, जब उन्मादी पत्थर फेंक रहे थे तो स्थिति संभालने के लिए पुलिस बल आगे आया, लेकिन उन्मादियों ने पुलिस वालों को भी नहीं छोड़ा. हालांकि पुलिस ने स्थिति को संभालते हुए जल लेने जा रही श्रद्धालुओं को नहर तक पहुंचा दिया. बताया जा रहा है कि तनाव को देखते हुए पुलिस वापसी के वक्त श्रद्धालुओं को दूसरे रास्ते से निकालकर मंदिर परिसर तक लेकर आई थी. इससे पहले एसडीएम अनिल कुमार दास ने कहा था कि उस रास्ते से जब महिलाएं और बच्चियां गुजर रही थीं तभी असामाजिक तत्वों ने उनके ऊपर पथराव किया था.

जानकारी के मुताबिक इलाके में बढ़ती अराजकता को देखते हुए श्रद्धालुओं को दूसरे मार्ग से निकालकार मंदिर परिसर में पहुँचाया गया. इस दौरान मोतीपुर थानाध्यक्ष सह इंस्पेक्टर की वर्दी पर लगे स्टार को भी नोचने का प्रयास किया गया. यहाँ इस दौरान पुलिस वालों के साथ गाली-गलौच भी की गई. उन्हें डंडा लेकर दौड़ाया भी गया. कुछ लोगों ने दावा किया कि पथराव करते हुए इलाके में राष्ट्र विरोधी नारे भी लगाए गए. एसडीएम ने आश्वासन दिया है कि अगर उन्हें देश विरोधी नारे लगाने के बारे में सबूत मिलेंगे तो वे इस पर कड़ी कार्रवाई करेंगे.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW