अब बिहार में दिखा कश्मीर का नजारा.. पुलिस को घेरकर हमला किया और छुड़ा ले गये हबीर्बुर रहमान व उसके साथियों को.. प्रार्थना कीजिये घायल जवानों के लिए

ऐसी घटना आपने कश्मीर में तो कई बार देखी होंगी जहाँ मजहबी उन्मादी राष्ट्र रक्षक सेना के जवानों पर हमला करते हैं, उन्हें पत्थर मारते हैं. कश्मीर से अक्सर ऐसी घटनाएँ सामने आ ही जाती हैं जहाँ कथित सेक्यूलरिज्म की राजनीति के कारण सुरक्षाबलों के जवानों को मजहबी उन्मादी निशाना बनाते हैं. लेकिन अब बिल्कुल कश्मीर जैसा नजारा बिहार में देखने को मिला है जहाँ उन्मादी भीड़ ने पुलिस पर भीषण हमला कर दिया तथा तीन अपराधियों को छुड़ा ले गये. इस हमले में कई पुलिस वाले घायल हुए हैं.

NIA ने खोला राज.. ISIS की तरह पहले भारत की पुलिस को मारते वो, फिर एलान करते कि- “लागू हो गया शरिया” .. नाम है अंसारुल्लाह

मामला बिहार के कटिहार के कोढ़ा थाने का है जहाँ हबीर्बुर रहमान, रहीम, शहाबुद्दीन को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी को गयी पुलिस टीम पर शुक्रवार की रात आरोपित के परिजनों ने जानलेवा हमला कर दिया और उनकी बेरहमी से पिटाई कर गंभीर रूप से घायल कर दिया. घायल पुलिसकर्मियों को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया, जहां से गंभीर रूप से घायल अवर निरीक्षक को रेफर कर दिया गया. घटना की जानकारी मिलने पर एसपी विकास कुमार शनिवार को कोढ़ा पहुंचे तथा घायल पुलिस पदाधिकारी से मिलकर घटना की जानकारी ली. एसपी ने कटिहार एसडीपीओ को टीम गठित कर आरोपितों को जल्द गिरफ्तार कर ने का निर्देश दिया है.

नक्सल प्रभावित इलाके में UP पुलिस के सिपाहियों ने जो किया क्या वो गलत था, जिसके बाद उन्ही के विभाग ने उन्ही पर लगा दी धारा 307 ? तुमने बहादुरी क्यों दिखाई महेंद्र ?

बताया गया है कि कोढ़ा थाना क्षेत्र के बिंजी गांव के हबीर्बुर रहमान, रहीम, शहाबुद्दीन कोढ़ा थाने के आर्म्स एक्ट के प्राथमिकी आरोपित हैं. वह महीनों से मामले में फरार चल रहे हैं. शुक्रवार की रात कोढ़ा पुलिस इनकी गिरफ्तारी के लिए बिंजी गांव में छापेमारी की. इस दौरान पुलिस ने अभियुक्त रहीम को गिरफ्तार किया, तो वह शोर मचाने लगा. रहीम के शोर मचाने पर उसके पिता हबीर्बुर रहमान व अन्य परिजन लाठी-डंडा व अन्य ने हथियार के साथ पुलिस पर जानलेवा हमला कर दिया. इसमें अवर निरीक्षक राममूरत राय व धीरेंद्र कुमार गंभीर रूप से घायल हो गये. वहीं पुलिस बल में शामिल प्रताप ठाकुर व ब्रह्मदेव सोरेन को भी गंभीर चोटें आयीं.

16 जुलाई: गुरुपूर्णिमा पर बारम्बार नमन है अंतिम सांस तक धर्म की रक्षा करने वाले वन्दनीय देवलोकवासी जगद्गुरु शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती जी को, जिनकी जन्मजयंती है आज

इस दौरान उन्मादी भीड़ ने अभियुक्त को पुलिस गिरफ्त से छुड़ा लिया और वह मौका देखकर फरार हो गया. घटना के बाद घायल पुलिसकर्मियों को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कोढ़ा लाया गया. घटना की जानकारी मिलते ही एसपी विकास कुमार, एसडीपीओ अनिल कुमार कोढ़ा पहुंचे. एसपी ने घायल अवर निरीक्षक का हालचाल लिया और पुलिस पर हमला करने वाले आरोपितों की शीघ्र गिरफ्तारी का निर्देश दिया. मामले में कोढ़ा थाने में रहीम, हबीर्बुर रहमान समेत एक अन्य को नामजद करते हुए प्राथमिकी दर्ज की गयी है.

लखनऊ में जीता गया “विश्वास”. पाकिस्तान की मुस्लिम महिला को मिली भारत की नागरिकता

इसके बाद चिकित्सक ने घायल अवर निरीक्षक राममूरत राय की गंभीर स्थिति को देखते हुए उन्हें रेफर कर दिया है. एसपी विकास कुमार ने बताया कि आर्म्स एक्ट के आरोपितों की गिरफ्तारी को लेकर बिंजी गांव गयी पुलिस टीम पर जानलेवा हमला किया गया है. घायल एसआइ के बयान पर कोढ़ा थाने में सरकारी काम में बाधा डालने व पुलिस पदाधिकारी पर जानलेवा हमला करने समेत अन्य संगीन धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज कर ली गयी है. घटना में शामिल आरोपितों की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस सघन छापेमारी कर रही है. आरोपियों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW