कुख्यात बदमाश अब्बास को पकड़ने गये हेड कांस्टेबल सुरेन्द्र सिंह पर हमला कर किया लहूलुहान… गोली चलाने के बाद तमंचे की बट से किया वार


उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में हेड कांस्टेबल पर समाज में भय का पर्याय बने बदमाश अब्बास द्वारा हमले का सनसनीखेज मामला सामने आया है, जिसमें हेड कांस्टेबल गंभीर रूप से घायल हो गये हैं. बताया गया है कि मुजफ्फरनगर के एक गांव बझेड़ी रोड स्थित ईंट-भट्ठे के पास बदमाश अब्बास ने हेड कांस्टेबल के ऊपर गोली चला दी. गोली हेड कांस्टेबल को नहीं लगी और वह बाल-बाल बच गए. इसके बाद अब्बास ने हेड कांस्टेबल के सिर पर तमंचे की बट मार-मारकर लहूलुहान कर दिया और वहां से फरार हो गया. घायल हेड कांस्टेबल को गंभीर हालत में शहर के एक नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया है.

नहीं थम रही बलात्कारों की श्रंखला… अब संभल में मोहम्मद तालिब और वारिश ने बंधक बनाकर नाबालिग से किया गैंगरेप

खबर के मुताबिक़, शहर की नई मंडी कोतवाली में कार्यरत हेड कांस्टेबल सुरेंद्र सिंह बागोवाली चौकी पर तैनात है. बीते शनिवार की देर रात सुरेंद्र सिंह को सूचना मिली कि अब्बास नाम का एक बदमाश बझेड़ी रोड स्थित ईंट-भट्ठे के पास किसी वारदात को अंजाम देने के इरादे से खड़ा हुआ है. सूचना मिलने के बाद हेड कांस्टेबल दिना देरी किये तत्काल अकेले ही बदमाश अब्बास को दबोचने जा पहुंचे. भट्ठे के पास मौजूद अब्बास को जैसे ही सुरेंद्र सिंह ने पकड़ने का प्रयास किया तो उसने हेड कांस्टेबल पर फायरिंग कर दी. जिसमें हेड कांस्टेबल गोली लगने से बाल-बाल बच गए.

पुलवामा के बाद राष्ट्र की रक्षक CRPF ने की थी भीष्म प्रतिज्ञा- “न भूलेंगे, न छोड़ेंगे” … अब पूरी हुई प्रतिज्ञा जब चुन-चुन कर मारे गये पुलवामा से जुड़े सभी दरिंदे

इसके बाद हेड कांस्टेबल सुरेन्द्र सिंह ने उसे पीछे से पकड़ लिया, जिस पर अब्बास ने हेड कांस्टेबल के सिर पर तमंचे की बट मारकर लहूलुहान कर दिया तथा उनकी पकड से छूटकर फरार हो गया. लहूलुहान सुरेंद्र सिंह ने इसके बाद अफसरों को सूचना दी, जिस पर इंस्पेक्टर संतोष कुमार सिंह व एसएसआई मदनसिंह बिष्ट फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और घायल एचसीपी को ले जाकर शहर के एक नर्सिंग होम में भर्ती कराया, जहां उसकी हालत गंभीर बताई जा रही है.

स्वतंत्र भारत एक पहले ऐसे मुख्यमंत्री बनने जा रहे हैं योगी आदित्यनाथ जिनकी प्रेस विज्ञप्ति जारी होगी संस्कृत में

इसके बाद बदमाश अब्बास की तलाश में 3 टीमों का गठन कर तलाश की गई, लेकिन उसका सुराग नहीं लगा. इंस्पेक्टर संतोष कुमार सिंह का कहना है कि बदमाश की पहचान जानसठ कोतवाली क्षेत्र के गांव कवाल निवासी अब्बास पुत्र इशरत के रूप में हुई है, जिसे जिलाबदर किया गया है. उसके खिलाफ कई थानों में मुकदमे भी दर्ज हैं. बदमाश की तलाश में 3 टीमों का गठन किया गया है, जिसे जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...