बिजनौर में हुनमान जी के पवित्र पंचमुखी मन्दिर पर हमला. तोड़ दी माँ भवानी की मूर्ति. माथे पर तिलक लगा कर पहुचे थे आदिल और शादाब

ये वो सोच है जो तबाह करने पर आमादा है भारत के ढाँचे को . दुनिया के आगे अपने एक अन्य रूप को रखने वाले कुछ तत्व असल जीवन में इतने हिंसक होते हैं इसको जान कर किसी के भी माथे पर पसीना आ सकता है . आतंकवाद का कोई धर्म नहीं कहने वाले देश में आये दिन धर्म विशेष के कुछ लोग हिन्दू धर्म के प्रतीकों और लोगों को निशाना बना रहे हैं जिसमे मन्दिर को तोड़े जाने की घटनाओ की बाढ़ जैसी आई है.. एक के बाद एक ऐसी हिंसक घटनाओ में से अब एक घटना आई है बिजनौर से .

अड़ने और अकड़ने का बहुत गंदा इतिहास रहा है ZOMATO का. लखनऊ युनिवर्सिटी में कर चुके हैं मार पीट, सडक को कर चुके हैं जाम और इसके स्टाफ हंगामा काट चुके हैं थाने पर

ये वही बिजनौर है जहाँ अभी हाल में ही मदरसे के अंदर से घातक हथियार बरामद किये गये थे . यही वो जनपद है जहाँ नगीना थानाक्षेत्र के अन्दर एक मदरसे में ब्लास्ट कैसे हुआ ये अभी जांच में जानने की कोशिश चल रही है लेकिन अब उसी बिजनौर में एक प्राचीन मन्दिर पर किया गया है हमला और मूर्तियों को कर दिया गया क्षतिग्रस्त.. सबसे ख़ास बात ये है कि यहाँ पर मन्दिर पर हमला करने वाले मुस्लिम समुदाय के लोगों ने माथे पर हिंदुत्व का प्रतीक तिलक लगा रखा था ..

सोशल मीडिया पर हिन्दू विरोधी घोषित हुई कम्पनी ZOMATO .छिड़ी बहिष्कार की मुहिम, मोबाईल से हटाए जा रहे एप

राम के चौराहे के पास स्थित पंचमुखी हनुमान मंदिर में बुधवार सुबह कुछ लोग पूजा कर रहे थे। इस दौरान वहां दो युवक माथे पर तिलक लगाकर पहुंचे और मां भवानी की मूर्ति ईंट, पत्थर मारकर तोड़ दी। दोनों को मंदिर में मौजूद लोगों ने रंगे हाथ दबोच लिया। युवकों ने अपने नाम कोतवाली शहर के मोहल्ला मिर्दगान निवासी आदिल और कस्साबान निवासी शादाब बताए। युवकों को पकड़े जाने की सूचना पुलिस को दी गई। उनका कहना था कि कुछ दिन पहले मंदिर में मांस भी फेंका गया था। तब माहौल को शांत रखने के लिए मंदिर समिति ने यह मामला दबा दिया था। लेकिन अब मंदिर में दूसरे वर्ग के युवकों को मूर्ति तोड़ते हुए पकड़ा गया है, इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करें. नीचे लिंक पर जाऐं–

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW